दैनिक भास्कर हिंदी: मुआवजा राशि मामले में कांग्रेस ने महाराष्ट्र सरकार को घेरा, क्यों नहीं कराया था शहीद जवानों का बीमा?

May 16th, 2019

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। कांग्रेस ने गड़चिरौली में नक्सलवादी हमले में शहीद हुए जवानों के परिजनों को बीमा राशि नहीं मिलने को लेकर महाराष्ट्र की फडनवीस सरकार और केन्द्र की मोदी सरकार की जमकर खिंचाई की है। पार्टी ने इसके लिए फडनवीस सरकार को जिम्मेदार ठहराते हुए कहा है कि इन शहीद परिवारों को मुआवजा राशि नहीं मिलेगी, क्योंकि महाराष्ट्र सरकार ने जवानों का बीमा नहीं कराया था। 

कांग्रेस के प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने गुरूवार को एक सवाल के जवाब में कहा कि भाजपा का असली चेहरा और झूठा राष्ट्रवाद इस बात से साफ हो गया कि हमारे वो बहादुर जवान जो गड़चिरौली में नक्सलवादी उग्रवाद के शिकार हो गए, अब उनके परिवारों को मुआवजे की राशि नहीं मिलेगी।

उन्होंने कहा कि ऐसा इसलिए होगा क्योंकि प्रदेश की फडनवीस सरकार ने जवानों का बीमा नहीं कराया था। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडनवीस से पूछा कि क्या इससे कोई और शर्मनाक बात हो सकती है? उन्होंने यह भी पूछा कि किस वजह से जवानों का बीमा करने में कोताही हुई?

‘सरकार अपने खजाने से दे परिजनों को पूरा मुआवजा’
रणदीप सुरजेवाला ने मांग की है कि बीमा होने के बाद जितनी मुआवजा राशि शहीद जवानों के परिजनों को मिलती, उतनी राशि का भुगतान महाराष्ट्र सरकार और केन्द्र की सरकार अपने खजाने से करें। उन्होंने आरोप लगाया कि देश के अर्द्धसैनिक बलों को लेकर मोदी सरकार की दोगली नीति है। कांग्रेस प्रवक्ता ने प्रधानमंत्री मोदी से पूछा कि शहीद होने वाले अर्द्धसैनिक बलों के जवानों को शहीद का दर्जा देने, उनके परिवार को मरणोपरांत एक नौकरी देने और उनके पूरे परिवार को मुआवजे की राशि देने में उनकी सरकार भेदभाव क्यों करती है? यह भेदभाव मोदी सरकार की न केवल दोगली नीति को दर्शाता है, बल्कि भाजपा के झूठे राष्ट्रवाद को भी बेनकाब करता है।