भाजपा के निशाने पर महाराष्ट्र पहले से था : गहलोत: महाराष्ट्र प्रकरण पर कांग्रेस ने मोदी-शाह पर साधा निशाना 

June 22nd, 2022

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने महाराष्ट्र में चल रही सियासी उठापटक को लेकर भाजपा पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र भाजपा के निशाने पर पहले से था, लेकिन इस षड़यंत्र को पार्टी अब अमली जामा पहना रही है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह को अहंकारी नहीं होना चाहिए और उन्हें संविधान के अनुसार देश चलाना चाहिए। 

गहलोत ने पूछा कि यह कैसी राजनीति है? हॉस ट्रेडिंग करके लगातार सरकारें गिराई जा रही है। कानून व्यवस्था खराब हो गई है। 20 करोड़, 30 करोड़ खर्च करके ये लोकतंत्र का चीरहण कर रहे हैं। भाजपा ने हर चीज को मजाक बना दिया है। उन्होंने कहा कि इनके निशाने पर पहले मध्यप्रदेश, फिर राजस्थान रहा। हालांकि महाराष्ट्र भी उसी समय से इनके निशाने पर था। अंदर ही अंदर षड़यंत्र चल रहा था जो अब बाहर आया है। उन्होंने कहा कि हिन्दुत्व के नाम पर देश में लोकतंत्र कमजोर हो रहा है। इसे देश देख रहा है। लोग अभी समझ नहीं रहे हैं, लेकिन बाद में पछताएंगे।

बी एल संतोष से मिले सीटी रवि
 महाराष्ट्र में जारी सियासी संग्राम का केन्द्र भले ही अभी मुंबई और गुवाहाटी हो, लेकिन दिल्ली में भी गुपचुप बैठकें चल रही हैं। एक तरफ केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह तक मुंबई और गुवाहाटी से पल-पल की खबरें पहुंच रही है तो वहीं भाजपा महासचिव और महाराष्ट्र के प्रभारी सीटी रवि भी अपने स्तर पर सक्रिय दिख रहे हैं। सीटी रवि ने बुधवार को भाजपा के संगठन महासचिव बी एल संतोष से मिलकर उन्हें महाराष्ट्र को लेकर जारी सियासी घमासान की जानकारी दी है। हालांकि यह भी सच है कि यह जोड़तोड़ टॉप लेवल पर हो रहा है और इसमें प्रभारी महासचिव की भूमिका ज्यादा नहीं है। बावजूद इसके सीटी रवि भी सक्रिय हैं। आज की बैठक को लेकर रवि ने कोई जानकारी नहीं दी, लेकिन माना जा रहा है कि राज्य का प्रभारी के नाते उन्होंने संगठन महासचिव को जरूरी जानकारी उपलब्ध कराई है।  


 

खबरें और भी हैं...