दैनिक भास्कर हिंदी: कोरोना : कलेक्टर ने कहा- मुख्यालय नहीं छोड़ें अधिकारी-कर्मचारी 

February 22nd, 2021

डिजिटल डेस्क, नागपुर। जिले (ग्रामीण) में बढ़ते कोरोना संक्रमण को देखते हुए जिलाधीश रवींद्र ठाकरे ने जिला मुख्यालय नहीं छोड़ने के निर्देश अधिकारी-कर्मचारियों को दिए हैं। साथ ही कहा है कि जरूरी व वाजिब कारण होने पर ही विभाग प्रमुख कर्मचारियों की छुट्टी मंजूर करें। घूमने जाने, पार्टी या मनोरंजन के लिए छुट्टी नहीं मिलेगी। 

विभागों को सख्त निर्देश 
जिला प्रशासन की प्राथमिकता जिले (ग्रामीण) में सुपर स्प्रेडर को सख्ती से रोकना है। कोरोना संक्रमित घर से बाहर न निकलें, यह सुनिश्चित करना है। अगर कोरोना संक्रमित खुला घुमा तो एक साथ कई लोगों को संक्रमित कर सकता है। कोरोना संक्रमित के घर आैचक भेंट देना, उसके संपर्क में आने वाले लोगों की कोरोना टेस्ट सुनिश्चित करना, घर में स्वतंत्र कमरे की व्यवस्था है या नहीं यह देखना, इसके अलावा दूध विक्रेता, सब्जी विक्रेता, सैलून चालक व हर दिन सैकड़ों लोगों के संपर्क में आने वाले लोगों की सूची तैयार करने जैसे काम जिला प्रशासन को करना है। इसके लिए काफी स्टाफ की जरूरत है। अन्य विभागों की भी मदद ली जा रही है। राजस्व विभाग की भूमिका इसमें सबसे अहम है आैर ऐसे समय अधिकारी-कर्मचारियों की कमी न पड़े, इसलिए मुख्यालय नहीं छोड़ने के निर्देश दिए गए हैं।

अवकाश के दिन बाहर जाना है तो सूचना दें 
राजस्व विभाग के अधिकारी-कर्मचारियों को शनिवार व रविवार को अवकाश होता है। यह शासकीय अवकाश है, लेकिन इस दिन अधिकारी मुख्यालय से बाहर जाना चाहता है, तो वरिष्ठ अधिकारी को सूचना देना होगा। आपातस्थिति में जरूरत पड़ने पर समय पर अधिकारी उपलब्ध हों, ऐसा उद्देश्य है। 24 घंटे ड्यूटी वाला नियम अधिकारी को लागू होता है।

उचित कारण होने पर ही छुट्‌टी मिलेगी
^कोरोना महामारी में अधिक से अधिक अधिकारी-कर्मचारियों की जरूरत है। बगैर सूचना के कोई मुख्यालय न छोड़ें। वाजिब कारण होने पर ही विभाग प्रमुख कर्मचारियों  की छुट्टी मंजूर करें। 
-रवींद्र ठाकरे, जिलाधीश नागपुर.