दैनिक भास्कर हिंदी: कोरोना संक्रमण रोकने अभियान से रहे दूर : 10 शिक्षकों पर एफआईआर

June 18th, 2020

डिजिटल डेस्क, नागपुर।  राज्य में कोविड-19 के संक्रमण को रोकने के लिए सरकार के स्तर से विभिन्न तरह के अभियान चलाए गए। इसी में से एक था- परिवारों का सर्वेक्षण। इसके लिए वाड़ी नगर परिषद ने अपने स्कूलों के शिक्षकों को जिम्मेदारी सौंपी। बाकायदा प्रशिक्षण दिया गया। कुछ शिक्षकों ने इस अभियान को गंभीरता से नहीं लिया। प्रशिक्षण से गैरहाजिर रहने वाले ऐसे 10 शिक्षकों के खिलाफ बड़ी कार्रवाई हुई है। नगर परिषद ने वाड़ी थाने में इनके खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई है।

दूसरे प्रशिक्षण में नहीं हुए शामिल
वाड़ी नगर परिषद के मुख्याधिकारी ने कोरोना संक्रमण रोकने के अभियान के लिए 240 शिक्षकों को चुना था। इसके लिए प्रशिक्षण की व्यवस्था की गई। सूत्रों की मानें तो दूसरी बार हुए प्रशिक्षण में 10 शिक्षक शामिल नहीं हुए। नगर परिषद के मुख्याधिकारी जुम्मा प्यारेवाले को इसकी जानकारी हुई तो एफआईआर के आदेश दिए। उनके आदेश पर  प्लॉट नंबर 119 गुरु प्रसाद नगर, दत्तवाड़ी नागपुर (नगर परिषद कर्मचारी ) निवासी संदीप सालिकराम आढाव ने वाड़ी थाने में शिकायत की। पुलिस ने इन शिक्षकों के खिलाफ धारा 188 सहकलम राष्ट्रीय आपत्ति कानून 2005  की धारा  56, 3 के तहत मामला दर्ज किया है। मुख्याधिकरी की ओर से की गई इस कार्रवाई के बाद से नगर परिषद में खलबली मची है। 

यह है मामला...
मोहल्लों में जाकर हर परिवार के सेहत से संबंधी जानकारी जुटानी थी।
240 शिक्षकों को वाड़ी नगर परिषद के स्तर से चुना गया था।
12 हजार परिवारों का होना था सर्वेक्षण।
सर्वे प्रशिक्षण में दूसरी बार नहीं आने वाले शिक्षकों के खिलाफ हुई कार्रवाई।

इन शिक्षकों पर हुई रिपोर्ट दर्ज
विशाखा सुभाष चानेकर, पल्लवी पी. बंड, अशोक बलीराम डोगरकर, युवराज नथ्थूजी उमरेडकर, किशोर गलमाले, दिनकर मारोतराव वानोडे, हफीजा बेगम गुलाम शेख, ज्योति सुरेश पुरके, रजनी गोंगले व पंकज भिमाशंकर बांते।

घर-घर जाकर करना था सर्वे
वाड़ी क्षेत्र के  करीब 12 हजार परिवारों का सर्वेक्षण करना था। इसके लिए शिक्षकों को उनके घर-घर जाना था। लॉकडाउन के दौरान यह जिम्मेदारी दी गई थी। दो बार शिक्षकों को प्रशिक्षण देने का कार्यक्रम भी रखा गया था।  वाड़ी के 10 शिक्षकों ने इस प्रशिक्षण में दूसरी बार हिस्सा नहीं लिया था। इसके बाद मंगलवार को एफआईआर दर्ज करने की कार्रवाई हुई।

हर किसी को जिम्मेदारी समझनी चाहिए
कोविड-19 के इस दौर में सभी को अपनी जिम्मेदारी समझकर जनता की सेवा करनी चाहिए।  वाड़ी में घर -घर जाकर नागरिकों के स्वास्थ्य का सर्वे करने  की जिम्मेदारी नहीं समझने वाले शिक्षकों पर मामला दर्ज कराया गया है। -जुम्मा प्यारेवाले, मुख्याधिकारी, नगर परिषद, वाड़ी, नागपुर