दैनिक भास्कर हिंदी: Coronavirus in MP: राज्य में कोरोना मरीजों का रिकवरी रेट 51%, अब भोपाल, इंदौर और उज्जैन को छोड़कर कहीं भी ई-पास जरूरत नहीं 

May 25th, 2020

डिजिटल डेस्क, भोपाल। मध्यप्रदेश में एक तरफ कोरोना संक्रमण के मरीजों की संख्या में इजाफा हो रहा है तो दूसरी ओर स्वस्थ हो रहे मरीजों का आंकड़ा भी बढ़ रहा है। राज्य में अब तक जितने मरीज बीमार हुए उनमें से 51 फीसदी मरीज स्वस्थ होकर घरों को लौट चुके हैं। https://www.covid19india.org/ वेबसाइट के अनुसार राज्य में रविवार को 294 नए मरीजों में कोरोना वायरस की पुष्टि हुई है और 141 लोग स्वस्थ हुए हैं। वहीं 9 लोगों ने कोरोना संक्रमण से अपनी जान गवाई है। इसके साथ ही रविवार तक जारी आंकड़ों के अनुसार 6,665 लोग संक्रमित हो चुके हैं। इनमें से 3,408 लोग स्वस्थ हो चुके हैं और 290 लोगों ने जान गवाई है। वहीं राज्य में एक्टिव केसों की संख्या 2,967 हो गई है। 

इंदौर, भोपाल और उज्जैन रेड जोन में 
राज्य में कोरोना संक्रमण के चलते जिलों को दो जोन रेड और ग्रीन में बांटा गया है। प्रमुख सचिव संजय दुबे ने बताया कि प्रदेश में ग्रीन जोन से ग्रीन जोन में जाने के लिए ई-पास समाप्त कर दिया गया है, परंतु रेड जोन में आने वाले इंदौर, भोपाल एवं उज्जैन से बाहर निकलने के लिए ई-पास की जरूरत होगी। इसी प्रकार दूसरे राज्यों में आने-जाने के लिए भी ई-पास की आवश्यकता होगी।

रिकवरी रेट बढ़कर 51 प्रतिशत
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश में कोरोना के उपचार की बेहतर से बेहतर व्यवस्था सुनिश्चित की जा रही है। प्रदेश में बड़ी संख्या में फीवर क्लीनिक ने भी काम करना चालू कर दिया है। कोरोना से संक्रमित होने के बाद रिकवरी रेट बढ़कर 51 प्रतिशत हो गया है। वर्तमान में जिलों में लागू लॉकडाउन का सख्ती से पालन कराना होगा और यह सुनिश्चित किया गया है गाइड लाइन के अनुसार इसमें छूट दी जाए।

अब तक राज्य में 27,484 लोगों की ​टेस्टिंग हुई
राज्य सरकार ने सर्दी, जुकाम और बुखार के मरीजों के परीक्षण के लिए फीवर क्लीनिक शुरु किए हैं। इनका ब्यौरा देते हुए स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य सुलेमान ने बताया कि प्रदेश के एक हजार 496 फीवर क्लीनिक में 27 हजार 484 व्यक्तियों का स्वास्थ्य परीक्षण किया गया। इनमें से 24 हजार 505 को होम आइसोलेशन की सलाह दी गई, छह हजार 415 व्यक्तियों के सैम्पल लिए गए, जिनमें से दो हजार 824 व्यक्तियों को कोविड केयर सेंटर व अस्पतालों में भिजवाया गया।

इस तरह करें ऑनलाइन आवेदन

  • अपने राज्य, केंद्र शासित प्रदेश या शहर की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं। 
  • मध्यप्रदेश : https://mapit.gov.in/covid-19/
  • यहां 'APPLY LOCKDOWN EPASS' पर क्लिक करें। 
  • यहां अपना मोबाइल नंबर और जिला सिलेक्ट करने के बाद कैप्चा कोड डालकर सबमिट कर दें। कुछ देर बाद आपके मोबाइल नंबर पर एक ओटीपी आएगा। इस ओटीपी को डालने के बाद ई-पास प्राप्त करने के लिए ऑनलाइन आवेदन फॉर्म खुल जाएगा।
  • ई-पास फॉर्म में मांगी गई सभी जरूरी जानकारियां भरें। 
  • अगर किसी दस्तावेज की प्रति मांगी जाती है तो उसे अपलोड करना होगा और एप्लीकेशन सबमिट कर दें। 
  • एक बार आपका पास स्वीकृत हो जाने के बाद, आपको प्राधिकरण से मैसेज प्राप्त होगा।
  • ई-पास की प्रति का प्रिंट आउट लेकर आप बाहर जा सकते हैं। 

कर्फ्यू ई-पास के लिए आवश्यक सेवाएं
कानून-व्यवस्था की सेवाएं, वाहन (केवल आपातकाल के लिए ट्रक, कार और बाइक), पुलिस, दमकल विभाग, बिजली, पानी, भोजन आपूर्ति, मरीज, मृत्यु का मामला और स्वास्थ्य सेवाएं

ई-पास आवेदन के लिए ये जानकारी देना जरूरी 
आवेदक का जिला, कस्बा, नाम, फोन नंबर, सरकारी पहचान पत्र और वाहन का रजिस्ट्रेशन नंबर