comScore

सिरफिरे युवक ने मां-बेटी की चाकू से हत्या की, तालाब में कूदकर खुद ने किया सोसाइड

सिरफिरे युवक ने मां-बेटी की चाकू से हत्या की, तालाब में कूदकर खुद ने किया सोसाइड

डिजिटल डेस्क, छिंदवाड़ा। शहर के पुराना पावर हाउस क्षेत्र में गुरुवार रात एक दिल-दहला देने वाली घटना सामने आई। एक सिरफिरे युवक ने पड़ोस में रहने वाली मां-बेटी पर चाकू से हमला कर दिया। इस हमले में गंभीर रूप से घायल मां-बेटी को अस्पताल लाया गया, जहां चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। वहीं घटना के बाद आरोपी युवक ने छोटा तालाब स्थित विसर्जन कुंड में छलांग लगाकर आत्महत्या कर ली। शुक्रवार सुबह गोताखोरों की मदद से उसका शव तालाब से बाहर निकाला गया। पुलिस ने युवक के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज किया है।


कोतवाली टीआई विनोद कुशवाह ने बताया कि रात लगभग 11 बजे पुराना पावर हाउस निवासी राजेश सोनी अपने बेटे के साथ रामायण पाठ के कार्यक्रम मेें शामिल होने खिरकापुरा गया था। इस दौरान घर पर उसकी पत्नी सरिता सोनी (40) और बेटी खुशी सोनी (16) अकेली थी। मौका पाकर पड़ोस में रहने वाले बंटी उर्फ शुभम पिता सुभाष राजस पिछले हिस्से से घर में घुस गया। मां-बेटी पर बंटी से धारदार हथियार से हमलाकर दिया। इस हमले में दोनों को गंभीर चोटें आई थी। मां-बेटी की चीखें सुन पड़ोसी मौके पर पहुंच गए थे। जिन्हें देख आरोपी युवक घर के पिछले दरवाजे से भाग निकला। घायलों को लोगों ने जिला अस्पताल लाया। यहां चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। वहीं घटना को अंजाम देने के बाद आरोपी भागकर छोटा तालाब पहुंचा और यहां बने विसर्जन कुंड में कूद कर अपनी जान दे दी। पुलिस ने आरोपी बंटी के खिलाफ धारा 302, 458 के तहत मामला दर्ज किया है।

 
सीसीटीवी में दिखा तालाब में छलांग लगाते
मां-बेटी की हत्या कर भागे आरोपी युवक को तालाब में छलांग लगाते हुए कुछ लोगों ने देखा था। इसकी सूचना उन्होंने पुलिस को दी। पुलिस ने तालाब में आसपास के सीसीटीवी कैमरा खंगाले, जिससे स्पष्ट हुआ कि युवक ने तालाब के विसर्जन कुंड में छलांग लगाई है।


दो हथियार का इस्तेमाल किया
घर में घुसे आरोपी ने गुप्तीनुमा एक धारदार हथियार और चाकू साथ लाया था। उसने मां-बेटी पर धारदार हथियार से कई वार किए। इस हमले में सरिता के शरीर में लगभग छह घाव थे। वहीं बेटी खुशी के शरीर पर सात गहरे घाव थे। जिसकी वजह से दोनों की मौत हो गई। 


भागते युवक को पकड़कर पीटा
मां-बेटी की चीख सुनकर आसपास के लोग इक हो गए। लोगों की आवाज सुन आरोपी पिछले दरवाजे से भाग रहा था। जिसे पकडकऱ लोगों ने पीटा भी। बताया जा रहा है कि लोगों की चुंगल से छूटकर आरोपी सीधे छोटा तालाब की ओर भागा और कुंड में छलांग लगा दी।


पुलिस ने एक्शन लिया होता तो बच सकती थी मां-बेटी की जान
राजेश सोनी ने बताया कि बंटी अक्सर बेटी खुशी से छेड़छाड़ कर परेशान किया करता था। पिछले छह माह में कोतवाली में चार बार लिखित शिकायत भी की गई, लेकिन पुलिस ने कोई एक्शन नहीं लिया। पुलिस हर बार युवक को उठाकर लाती और शाम को छोड़ देती थी। जिससे आरोपी युवक का हौसला बुलंद हो गया। पुलिस की लचर कार्यप्रणाली पर सवाल उठाते हुए राजेश समेत परिजनों का कहना है कि यदि पुलिस समय पर युवक पर कार्रवाई कर देती तो शायद  मां-बेटी की जान बच सकती थी। पुलिस की लापरवाही की वजह से दो जानें चली गई। राजेश के मुुताबिक बीती 17 जून को भी उन्होंने शिकायत दर्ज कराई थी। इस दौरान मोहल्ले के एक वकील ने आकर मामले में सुलह कराते हुए शिकायत वापस करवा ली थी। राजेश ने पुलिस अधीक्षक से मांग की है कि मामले की उचित जांच कर कार्रवाई की जाए। 
 

कमेंट करें
KvHbQ