comScore

क्रिकेट सट्टा अड्डों पर छापा, 2 बुकी गिरफ्तार

क्रिकेट सट्टा अड्डों पर छापा, 2 बुकी गिरफ्तार

डिजिटल डेस्क, नागपुर। गिट्टीखदान में एक क्रिकेट सट्टा अड्डे पर पुलिस ने मारे छापे में बुकी शीतल बोरकर को गिरफ्तार किया। शीतल वीवो आईपीएल 2021 के पंंजाब किंग्स और राॅयल चैलेंजर्स बंगलुरु के बीच खेले जा रहे ट्वेंटी-20 मैच पर खायवाली और लागवाली कर रहा था। पुलिस उपायुक्त विनीता साहू के मार्गदर्शन में कार्रवाई की गई। 

पुलिस के अनुसार 30 अप्रैल को गुप्त सूचना मिलने पर गणेश नगर, दाभा बस्ती में आरोपी शीतल बोरकर (26),  भिवसनखोरी बस्ती, बौद्ध विहार के पीछे निवासी के यहां छापेमारी की। पुलिस ने आॅनलाइन क्रिकेट सट्टे की सामग्री सहित करीब 75,810 रुपए का माल जब्त किया है। शीतल के खिलाफ गिट्टीखदान थाने में मामला दर्ज किया गया है। वरिष्ठ थानेदार गजानन कल्याणकर ने कार्रवाई की।  

मकान में चल रहा था अड्डा
पारडी पुलिस ने 30 अप्रैल को एक मकान में चल रहे क्रिकेट सट्टा अड्डे पर छापा मारा, लेकिन बुकी रोहन दीक्षित पुलिस को चकमा देकर भागने का प्रयास किया, लेकिन वह पकड़ा गया। रोहन बंद कमरे में टीवी पर आईपीएल मैच देखकर मोबाइल पर ग्राहकों से सट्टे की खायवाली कर रहा था। 

पारडी में सीता भवन की घटना :पुलिस के अनुसार गश्त के दौरान गुप्त सूचना मिली कि, चंद्र नगर, पारडी में सीता भवन के एक मकान में  कुछ लोग क्रिकेट मैच पर खायवाली कर रहे हैं। पुलिस ने सीताभवन में पहली मंजिल पर छापेमारी की। कमरे का दरवाजा बंद था। आवाज देने पर अंदर से कोई प्रत्युत्तर नहीं मिलने पर पुलिस ने दरवाजे को खोलने की कोशिश की। इस बीच बुकी रोहित दीक्षित पुलिस को भागता हुआ नजर आया। पूछताछ में रोहित के  रिश्तेदारों ने बताया कि, वह क्रिकेट मैच देख रहा था। पुलिस ने पीछा कर उशे पकड़ लिया। आरोपी से टीवी, मोबाइल, सट्टे की डायरी, सेटअप बॉक्स आदि सामग्री जब्त की। पारडी थाने में मामला दर्ज किया। 

साझेदार बनाकर 15 लाख रुपए ठगे
नोटबुक व रजिस्टर बनाने का कारखाना शुरू करने का लालच देकर एक प्रॉपर्टी डीलर से 15 लाख की ठगी किए जाने का मामला सामने आया है। आरोपी संदीप जैन है। प्रॉपर्टी डीलर संजय पोतदार की शिकायत पर संदीप के खिलाफ नंदनवन पुलिस ने धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया है।

पुलिस के अनुसार पीड़ित सीमेंट रोड, गुप्ता सदन, नंदनवन निवासी संजय नटवरलाल पोतदार  (50)  का प्रॉपर्टी खरीदी-बिक्री का काम है। आरोपी संदीप संतोष जैन (50), व्यंकटेश नगर, नंदनवन निवासी ने संजय के साथ 28 दिसंबर  2017  से 8 नवंबर 2020 के बीच धोखाधड़ी की।  संजय ने पुलिस को बताया कि, संदीप की स्टेशनरी दुकान है।   आरोपी का बेटा स्टेशनरी व्यवसाय (नोटबुक, रजिस्टर उत्पादन कारखाना)  शुरू करना चाहता था।  संदीप  ने कारखाने के लिए जगह भी देख ली थी। संदीप को बेटे का व्यवसाय शुरू करने के लिए 30  लाख रुपए की जरूरत थी।  संदीप ने संजय के सामने बेटे के व्यवसाय में साझेदार बनने का प्रस्ताव रखा तथा संजय को 50 प्रतिशत रकम निवेश करने का सुझाव दिया। संजय ने चेक माध्यम से 15,00,000 रुपए संदीप को दिए, लेकिन पैसे लेने के बाद संदीप और उसके बेटे ने कोई व्यवसाय शुरू नहीं किया। 

पैसे मांगे तो टालमटोल करने लगा
संजय ने अपने पैसे वापस मांगे, तो संदीप टालमटोल करने लगा। आखिरकार संजय ने संदीप के खिलाफ नंदनवन थाने में शिकायत की। पुलिस ने संदीप जैन   के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।
 
वाहन की किस्त मांगने पर चाकू घोंपा
एक्टिवा की किस्त को लेकर हुए विवाद में किस्त मांगने वाले पर चाकू से हमला कर उसे जख्मी कर दिया। घायल का नाम संजय कांडलकर (33), योगी अरविंद नगर निवासी है। जख्मी के भाई  गोपाल कांडलकर ने यशोधरा नगर थाने में शिकायत दर्ज कराई है। गोपाल के अनुसार संजय की भूमि अॉटो माबाइल की दुकान है। संजय की दुकान से मोइन शेख, योगी अरविंद नगर निवासी ने तीन माह पहले एक्टिवा फाइनेंस कराई थी। किस्त की रकम नहीं भरने पर संजय ने 30 अप्रैल को मोइन से पैसे मांगे। इस बात पर मोइन को गुस्सा आ गया और अपने साथी  शाकिर और  गोलू के साथ घर जाकर मोइन ने संजय के कमर व जांघ पर चाकू से हमला कर जख्मी कर दिया। संजय का मेयो अस्पताल में उपचार शुरू है।

बदमाश एक वर्ष के लिए तड़ीपार 
बेलतरोड़ी थाना क्षेत्र के एक बदमाश काे एक वर्ष के लिए तड़ीपार किया गया है। आरोपी सुनील पांडूरंग गायकवाड़ (29), कैकाड़ी नगर झोपड़पट्टी निवासी है। आरोपी को एक वर्ष के लिए तड़ीपार किया गया है। आरोपी पर दुष्कर्म, सेंधमारी, मारपीट, गाली-गलौज करने जैसे कई गंभीर मामले दर्ज हैं। आरोपी के खिलाफ प्रतिबंधात्मक कार्रवाई की गई। आरोपी पर सोनेगांव, बेलतरोड़ी, गणेशपेठ थाने में मामला दर्ज है। अपनी आदतों में कोई सुधार नहीं लाने पर सुनील गायकवाड़ के खिलाफ तड़ीपार की कार्रवाई की गई है। बेलतरोड़ी के थानेदार विजय आकोत के नेतृत्व में कार्रवाई की गई। 


 

कमेंट करें
UlkgQ