दैनिक भास्कर हिंदी: 13 एकड़ जमीन हड़पने के लिए 14 आरोपियों पर अपराध दर्ज

February 15th, 2021

डिजिटल डेस्क, नागपुर। गोरेवाडा क्षेत्र में एक 80 वर्षीय वृद्ध की 13 एकड़ पुस्तैनी जमीन कुछ आरोपियों ने फर्जी दस्तावेजों से जबरन कब्जा करने की कोशिश की। पीड़िता की गुहार पर पुलिस आयुक्त अमितेश कुमार ने एसआईटी गठित कर जांच शुरू कराई है। करीब एक साल बाद गिट्टीखदान पुलिस ने 5 आरोपियों के खिलाफ 2 फरवरी को मामला दर्ज किया है। यह मामला कसाबपुरा नालसाहब रोड, मोमिनपुरा निवासी मिर्जा सलीम बेग (40) की शिकायत पर दर्ज किया गया है। आरोपियों के नाम फिरोज अंसारी सफात अंसारी (38) गुजरी बाजार कामठी, शहनवाज खान इस्माइल खान (47) एनआईटी क्वार्टर यशोधरा नगर, मोहम्मद कदीर खान मो. वकील खान (33) महात्माफुले बाजार, तकिया मोमिनपुरा, माेहम्मद शकील उर्फ लालभाई  शाकिर हुसैन शेख (46) मोमिनपुरा, और मोहम्मद सुभान एहफार्जुरहीम (63) अमन रेजेंसी मंशा चौक, गिट्टीखदान निवासी हैं। शहनवाज पर गिट्टीखदान में 4, पांचपावली में 2, अंबाझरी में 2 और यशोधरा नगर थाने में हत्या, हत्या के प्रयास, धोखाधड़ी सहित 14 आपराधिक मामले दर्ज हैं। 

आपस में खरीदी-बिक्री कर ली
आरोपी फिरोज अंसारी, शहनवाज खान जमीन खरीदी-बिक्री का धंधा करते हैं। मो. कदीर और मो. शकील प्रापर्टी डीलर हैं। इन्होंने 1 नवंबर 2014 से 12 दिसंबर 2019 के दरमियान मौजा गोरेवाड़ा, खसरा नंबर 104, 105 संबंधी जमीन के फर्जी दस्तावेज तैयार कर मिर्जा सलीम बेग के साथ धोखाधड़ी की। उनकी 13 एकड़ पुस्तैनी जमीन के फर्जी दस्तावेज तैयार कर उसे आपस में खरीद-बिक्री कर ली। मिर्जा सलीम ने पुलिस को बताया कि उसके  पिता नसीर बेग ने 11 फरवरी 1954 में दस्त क्रमांक 283/1954 अनुसार आजीजाबी मोहम्मद कादर के बेटे अब्दुल रहमान मोहम्मद कादर से 7 हजार रुपए में मौजा गोरेवाड़ा खसरा नंबर  104, 105 में आराजी 13 एकड़ जमीन खरीदी थी। आजीजाबी मोहम्मद कादर को चार संतानें थीं, जिसमें अब्दुल रहमान, मोहम्मद यूनूस, मोहम्मद यूसूफ और जकारिया का नाम शामिल है। 

3 हजार रुपए में लिया करारनामा पत्र
अब्दुल रहमान ने अपने अन्य तीन भाइयों से 28 जून 1948 में नकदी 3 हजार रुपए के बदले में उपरोक्त जमीन का करारनामा पत्र करवा लिया था। इसका दस्त क्रमांक 283/ 1954 में जिक्र है। मिर्जा सलीम बेग के पिता मिर्जा नसीर बेग का वर्ष 1957 में मौत हो गई। उसके बाद इस जमीन के दस्तावेज मिर्जा सलीम बेग और उनके रिश्तेदारों के नाम पर है। दिसंबर 2019 को मिर्जा सलीम बेग को पता चला कि गोरेवाड़ा में उनकी 13 एकड़ जमीन पर उक्त आरोपियों ने कब्जा जमाने के लिए धावा बोल दिया है। इस मामले में मिर्जा सलीम बेग और उनके परिवार के खिलाफ ही गिट्टीखदान थाने में मामला दर्ज कर लिया गया। अंत में इस मामले में मिर्जा सलीम बेग और उनके रिश्तेदारों ने पुलिस आयुक्त से मुलाकात की। पुलिस आयुक्त ने दोनों पक्षों को बुलाया। उनके दस्तावेजों की छानबीन की गई। उसके बाद पुलिस ने उक्त आरोपियों पर धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया। सभी आरोपी फरार हैं। गिट्टीखदान पुलिस मामले की जांच कर रही है।