comScore

सुबह 9 से 11 के बीच उमड़ती भीड़, रोज-कमाने खानेवाले परेशानी में

सुबह 9 से 11 के बीच उमड़ती भीड़, रोज-कमाने खानेवाले परेशानी में

डिजिटल डेस्क, नागपुर। कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए लगाए गए लॉकडाउन में एक ओर दुकानों में ग्राहकी घटी है, वहीं दूसरी ओर समय की पाबंदी के कारण सुबह 9 से 11 बजे के बीच दुकानों में भीड़ बढ़ी है। इस बीच रोज कमा कर खाने वाला मजदूर वर्ग परेशानी में है। सुबह 9 बजे के बाद दुकानों में एक साथ खरीदारों की भीड़ हो जाती है। 

9 बजे के बाद ही शुरू होती  हैं ग्राहकी : नागपुर चिल्लर किराना मर्चंेट एसोसिएशन के अध्यक्ष ज्ञानेश्वर रक्षक का कहना है कि लॉकडाउन में दुकानों के समय निर्धारित करने से पहले व्यापारी संगठनों से भी चर्चा की जानी चाहिए। सुबह 7 से 11 बजे तक का समय बिल्कुल भी सही नहीं है। 7 से 9 बजे तक तो अधिकांश ग्राहक नींद से नहीं जागते हैं। 9 बजे के बाद दुकानों में ग्राहकी आती है। दुकान शुरू रखने के लिए केवल 2 घंटे   का समय होने के कारण इस बीच भीड़ बढ़ जाती है। हर कोई जल्द से जल्द सामान लेकर वापस जाना चाहता है। इस कारण विवाद भी होते हैं। 

शाम को भी 4 घंटे का मिले समय
रक्षक ने प्रशासन से आग्रह किया है कि किराना दुकानों को सुबह 4 घंटे और शाम में 4 घंटे तक खोलने की इजाजत मिलनी चाहिए। इससे हर वर्ग का ग्राहक आसानी से अपनी जरूरत का सामान खरीद सकेगा और दुकानों में भीड़ भी नहीं जमेगी। प्रशासन ने इस ओर विचार कर उचित निर्णय लेना चाहिए। 

थोक में बिक्री घटी
कलमना के अनाज व्यापारी रमेश उमाठे का कहना है कि खुदरा दुकानों को चार घंटे का समय दिए जाने के कारण थोक बाजार में ग्राहकी कम हुई है। कलमना स्थित अनाज बाजार सुबह 11 से 4 बजे तक खुला रहता है और चिल्लर किराना दुकानें सुबह 11 बजे के बाद बंद हो जाती है। इसीलिए शहर में दुकान खुलने का समय सुबह 11 से शाम 4 बजे तक करना चाहिए। 

कमेंट करें
7rB04