comScore

राजस्थान के तूफान ने दिल्ली की हवा में घोला जहर, सांस लेना हुआ मुश्किल

June 15th, 2018 05:55 IST

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। दिल्ली-एनसीआर में पॉल्युशन लेवल एक बार फिर खतरनाक स्तर पर पहुंच गया है। पिछले 2 दिनों से राजस्थान में चल रही धूल भरी आंधी के चलते दिल्ली में यह हालत हुई है। यहां लोगों को सांस लेने तक में तकलीफ हो रही है। डॉक्टरों ने जहां लोगों को मास्क पहनकर निकलने की सलाह दी है। वहीं केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (EPCA) ने दिल्ली-NCR के चीफ सेक्रेटरी को सड़कों और पेड़ों पर पानी छिड़कने के लिए कहा है। उधर, मौसम विभाग के अनुसार दिल्ली में अगले तीन दिनों हवा में धूल के कण अपना जहरीला असर छोड़ते रहेंगे और लोगों को तकलीफ का सामना करना पड़ेगा। गौरतलब है कि गत दिसंबर-जनवरी के दौरान भी दिल्ली में प्रदूषण स्तर खतरनाक स्तर पर पहुंच गया था।


दिल्ली में खतरे के स्तर पर PM-10
केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (EPCA) के आंकड़ों के मुताबिक, दिल्ली में PM-10 बुधवार को 823 के पार चला गया था। यह सामान्य स्तर से 8 गुना ज्यादा है। गुरुवार सुबह भी यह 262 पर था, जो कि पुअर कैटेगरी में आता है। बता दें कि PM यानी पार्टिक्यूलेट मेटर, ठोस और लिक्विड के कण होते हैं जो हवा में तैरते रहते हैं। इनका डायामीटर 10 माइक्रोमीटर से भी कम होता है, जिसके चलते ये आसानी से फेफड़ों में पहुंचकर सांस लेने में दिक्कतें जैसी कई खतरनाक बीमारियां पैदा करते हैं।


बीमारियों का खतरा
दिल्ली में प्रदूषण का लेवल अचानक इस तरह से बढ़ने के बाद डॉक्टरों ने लोगों को ऐहतियात बरतने को कहा है। डॉक्टरों का कहना है कि हवा में फैले जहरीले कण लोगों के लिए कई तरह की बीमारियां ला सकते हैं। इसके साथ ही शरीर में इन कणों की मौजूदगी से लोग बेचैनी महससू कर सकते हैं। जहरीली हवा के संपर्क में आने से सबसे ज्यादा समस्या अस्थमा के मरीजों और बुजुर्गों को आ सकती है। डॉक्टरों का कहना है कि जहरीली हवा से बचने के लिए लोगों को जरूरत पड़ने पर ही घर से बाहर निकलना चाहिए और जब भी निकले मास्क पहनकर निकलना चाहिए।

दिल्ली में एयर क्वालिटी इंडेक्स 
दिल्ली में बुधवार को एयर क्वालिटी इंडेक्स बहुत खराब स्तर पर पहुंच गया। दिल्ली में कई जगहों पर एयर क्वालिटी इंडेक्स 500 के पार चले गया, जो कि बेहद खराब होता है। एयर क्वालिटी इंडेक्स 50 के नीचे हो तो यह बेहद अच्छा होता है। जैसे-जैसे यह बढ़ता है वैसे-वैसे लोगों के स्वास्थ्य के लिए भी हानिकारक होता जाता है।



 

कमेंट करें
sn9d6