comScore

Delhi coronavirus: दिल्ली में 24 घंटे में मिले कोरोना के 27 हजार से ज्यादा नए केस, 375 की मौत

Delhi coronavirus: दिल्ली में 24 घंटे में मिले कोरोना के 27 हजार से ज्यादा नए केस, 375 की मौत

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। दिल्ली में पिछले 24 घंटे में कोरोना संक्रमण के 27,047 नए मामले आए हैं। इसके साथ ही दिल्ली में 375 कोरोना रोगियों की मौत हुई है। इन्हीं 24 घंटों में 25,288 कोरोना रोगी स्वस्थ हुए हैं। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में अब तक कोरोना से 16147 मरीजों की मौत हो चुकी है। दिल्ली में अभी तक कुल 1,149,333 लोग कोरोना संक्रमित हुए हैं। 

दिल्ली में एक दिन में 20 अप्रैल को सबसे अधिक 28395 लोग संक्रमित हुए थे। वहीं गुरुवार को एक दिन में सबसे अधिक 395 कोरोना रोगियों की मौत हुई थी। शुक्रवार को ही दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल भी कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। उपराज्यपाल ने स्वयं अपने कोरोना पॉजिटिव होने की जानकारी साझा की है। फिलहाल उपराज्यपाल का स्वास्थ सामान्य बना हुआ है। वह अपने सरकारी आवास पर सेल्फ आइसोलेशन में हैं।

गौरतलब है कि 3 दिन पहले ही दिन पहले ही केंद्रीय गृह मंत्रालय ने एक अधिसूचना जारी की है जिसके मुताबिक दिल्ली में सरकार का मतलब उपराज्यपाल होगा। उधर, दिल्ली सरकार का कहना है कि 18 वर्ष से ऊपर के लोगों का वैक्सीनेशन फिलहाल दिल्ली में शुरू नहीं हो सकेगा। 18 से 44 वर्ष की आयु वर्ग के लोगों का वैक्सीनेशन 1 अप्रैल से शुरू होना था, लेकिन वैक्सीन उपलब्ध न होने के कारण फिलहाल यह वैक्सीनेशन शुरू नहीं होगा।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के मुताबिक, दिल्ली को कोरोना की रोकथाम करने वाली वैक्सीन अभी तक मुहैया नहीं कराई गई है। यही कारण है 1 मई से यह वैक्सीनेशन कार्यक्रम नहीं चलाया जा सकेगा। अरविंद केजरीवाल ने कहा कि अभी दिल्ली सरकार के पास वैक्सीन उपलब्ध नहीं है, इसलिए 18 से 44 साल के ऐसे लोग जिन्होंने वैक्सीनेशन के लिए अपना ऑनलाइन पंजीकरण कराया, वे एक मई से वैक्सीन लेने के लिए अस्पतालों के बाहर लाइन न लगाएं।


 

कमेंट करें
19D4f
NEXT STORY

Tokyo Olympics 2020:  इस बार दिखेगा भारत के 120 खिलाड़ियों का दम, 18 खेलों में करेंगे शिरकत

Tokyo Olympics 2020:  इस बार दिखेगा भारत के 120 खिलाड़ियों का दम, 18 खेलों में करेंगे शिरकत

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। टोक्यो ओलंपिक का काउंटडाउन शुरु हो चुका हैं। 23 जुलाई से शुरु होने जा रहे एथलेटिक्स त्यौहार में भारतीय दल इस बार 120 खिलाड़ियों के साथ 18 खेलों में दावेदारी पेश करेगा। बता दें 81 खिलाड़ियों के लिए यह पहला ओलंपिक होगा। 120 सदस्यों के इस दल में मात्र दो ही खिलाड़ी ओलंपिक पदक विजेता हैं। पी.वी सिंधू ने 2016 रियो ओलंपिक में सिल्वर तो वहीं मैराकॉम ने 2012 लंदन ओलंपिक में ब्रॉन्ज मेडल अपने नाम किया था।

भारत पहली बार फेंनसिग में चुनौता पेश करेगा। चेन्नई की भवानी देवी पदक की दावेदारी पेश करेंगी। भारत 20 साल के बाद घुड़सवारी में वापसी कर रहा है, बेंगलुरु के फवाद मिर्जा तीसरे ऐसे घुड़सवार हैं जो ओलंपिक में भारत का प्रतिनिधित्व करेंगे। 

olympic

युवा कंधो पर दारोमदार

टोक्यो ओलंपिक में भाग लेने जा रहे भारतीय दल में अधिकतर खिलाड़ी युवा हैं। 120 खिलाड़ियों में से 103 खिलाड़ी 30 से भी कम आयु के हैं। मात्र 17 खिलाड़ी ही 30 से ज्यादा उम्र के होंगे। 

भारतीय दल में 18-25 के बीच 55, 26-30 के बीच 48, 31-35 के बीच 10 तो वहीं 35+ उम्र के 7 खिलाड़ी हिस्सा ले रहे हैं। इस लिस्ट में सबसे युवा 18 साल के दिव्यांश सिंह पंवार हैं, जो शूटिंग में चुनौता पेश करेंगे, तो वहीं सबसे उम्रदराज 45 साल के मेराज अहमद खान होंगे जो शूटिंग में ही पदक के लिए भी दावेदार हैं।