दैनिक भास्कर हिंदी: संसद में उठी शिरडी-अहमदनगर-पुणे इंटरसिटी रेल सेवा शुरू करने की मांग

March 25th, 2021

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। शिवसेना सांसद सदाशिव लोखंडे ने गुरुवार को शिरडी संसदीय क्षेत्र से जुड़े रेलवे के मसले को लोकसभा में उठाया और रेल मंत्री पीयूष गोयल ने आग्रह किया कि वे इन मांगों को जल्द पूरा करें। इस दौरान उन्होने शिरडी-अहमदनगर-पुणे इंटरसिटी रेल सेवा शुरू करने और बेलापुर रेलवे स्टेशन पर गाड़ी संख्या 16229 (मैसूर-सोलापुर-वाराणसी) तथा गाड़ी संख्या 1211 (पुणे-नागपुर गरीब रथ) का ठहराव देने का आग्रह किया।

लोखंडे ने यह मसला आज लोकसभा में नियम 377 के तहत उठाया। उन्होने कहा कि शिरडी-अहमदनगर-पुणे इंटरसिटी रेल सेवा शुरू करने और बेलापुर रेलवे स्टेशन पर मैसूर-सोलापुर-वाराणसी तथा पुणे-नागपुर गरीब रथ का ठहराव देने को लेकर पूर्व में मैं रेल मंत्री पीयूष गोयल पर पहले ही पत्र लिख चुका हूं। बेलापुर में दोनों गाड़ियों का ठहराव देने से संबंधित सिफारिश मंडल रेलवे ने रेलवे बोर्ड को भी भेजी है। इसके साथ ही सांसद ने शिरडी आने वाले श्रद्धालुओं के लिए क्षेत्रीय भ्रमण के दौरान साईं नगर-दौंड-पुणे-मुंबई-शिरडी फास्ट पैसेंजर शुरू करने की मांग भी की है।

लोकसभा और राज्यसभा की कार्यवाही अनिश्चितकाल के लिए स्थगित
संसद का बजट सत्र गुरूवार को संपन्न हो गया। लोकसभा और राज्यसभा की कार्यवाही पांच राज्यों में हो रहे विधानसभा चुनावों और कोरोना महामारी के मद्देनजर तय समय से पहले ही अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दी गई। बजट सत्र पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के मुताबिक दो चरणों में 29 फरवरी से शुरू होकर 8 अप्रैल तक चलना था, लेकिन यह आज ही संपन्न हो गया।

राज्यसभा में हुआ 90 प्रतिशत कामकाज : नायडू
राज्यसभा के सभापति एम वेंकैया नायडू ने सभा को अनिश्चितकाल के लिए स्थगित करने से पहले बताया कि बजट सत्र के दौरान सदन की कुल 23 बैठकों में 90 प्रतिशत कामकाज हुआ, जबकि सदन में हंगामे के चलते 21 घंटे 26 मिनट का समय बर्बाद हुआ। उन्होने बताया कि बजट सत्र के पहले चरण में कामकाज 99.6 प्रतिशत रहा तो दूसरे चरण में 85 प्रतिशत रहा। उन्होने बताया कि इस दौरान वित्त और विनियोग विधेयक सहित कुल 19 विधेयक पारित हुए। 

राज्यसभा में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर चार दिनों तक चली चर्चा में 50 सदस्यों ने हिस्सा लिया तो बजट पर तीन दिनों तक चली चर्चा में कुल 45 सदस्यों ने शिरकत की। सदन में शून्यकाल के दौरान लोक महत्व के कुल 273 मुद्दे उठाए गए। सभापति ने समिति की बैठकों में सदस्यों की अनुपस्थिति का जिक्र करते हुए सभी दलों के नेताओं से सदस्यों की उपस्थिति सुनिश्चित करने व समिति की बैठकों को गंभीरता से लेने का आग्रह किया।

लोकसभा की उत्पादकता रही 114 प्रतिशत
लोकसभा में पीठासीन सभापति भर्तृहरि महताब ने बताया कि बजट सत्र के दौरान कुल 24 बैठकें हुई और सभा की उत्पादकता 114 प्रतिशत रही। सत्र में विभिन्न विषयों पर चर्चा के लिए लोकसभा 48 घंटे 23 मिनट देर तक बैठी। राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर लगभग 17 घंटे की चर्चा हुई और इसमें 149 सदस्यों ने हिस्सा लिया। एक फरवरी 2021 को पेश आम बजट पर 14 घंटे 42 मिनट तक चर्चा हुई जिसमें 146 सदस्यों ने भाग लिया। सदन में कुल मिलाकर 18 विधेयक पारित हुए। सभा में अविलंबनीय लोक महत्व के कुल 583 मामले उठाए गए तो नियम 377 के अधीन कुल 405 मामले उठे।

खबरें और भी हैं...