दैनिक भास्कर हिंदी: मध्यप्रदेश में फिर खनन माफिया हावी, डिप्टी रेंजर को ट्रैक्टर से कुचला

September 7th, 2018

डिजिटल डेस्क, ग्वालियर। मध्य प्रदेश में एक बार फिर खनन माफिया हावी होता दिख रहा है। चंबल के मुरैना में खनन माफिया ने एक और अधिकारी की जान ले ली है। शुक्रवार को रेत माफिया पर कार्रवाई के लिए गए डिप्टी रेंजर को रेत से भरे ट्रैक्टर से कुचल दिया। इस घटना में डिप्टी रेंजर सुबेदार सिंह कुशवाह की मौत हो गई। घटना के बाद ट्रैक्टर चालक फरार हो गया। पुलिस CCTV कैमरों की मदद से आरोपी की पहचान करने में जुटी है। 

 


इस तरह हुई वारदात
जानकारी के अनुसार मृतक डिप्टी रेंजर सुबेदार सिंह कुशवाह की ड्यूटी नेशनल हाइवे-3 पर बनी चेक पोस्ट पर लगी हुई थी। घटना वाले दिन शुक्रवार को वे यहीं पर तैनात थे और अपने सहकर्मियों के साथ वाहनों की चेकिंग कर रहे थे। खासतौर पर उनकी नजर अवैध खनन कर रहे वाहनों पर थी। इसी दौरान सुबह करीब 8 बजे उन्होंने एक ट्रैक्टर को रोकने की कोशिश की, लेकिन पीछे से आ रहे दूसरे ट्रैक्टर ने उन्हें कुचल दिया। आरोप है कि रेत माफिया पर कार्रवाई किए जाने के दौरान जानबूझकर उन पर ट्रैक्टर चढ़ा दिया गया।

पुलिस ने खंगाले CCTV फुटेज
पुलिस ने कार्रवाई करते हुए मामले से संबंधित सभी CCTV फुटेज को जांच में ले लिया है। घटना के बाद से ही पुलिस अधिकारी आसपास के क्षेत्र में लगे CCTV कैमरों की मदद से आरोपी की पहचान करने में जुटी है। पुलिस अधीक्षक अमित सांघी ने बताया कि घटना में शामिल किसी भी ट्रैक्टर चालक और मालिक का पता नहीं चल सका है। पुलिस ने अज्ञात ट्रैक्टर चालक के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है।

शिवराज सरकार में रेत माफियाओं के हौसले बुलंद
कांग्रेस पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष और सांसद कमलनाथ ने भी इस पूरे मामले की कड़ी आलोचना की है। उन्होंने कहा, "शिवराज सरकार में प्रदेश में रेत माफियाओं के हौसले बुलंद हैं। इससे पहले भी मुरैना में आईपीएस नरेंद्र कुमार की हत्या कर दी गई थी। आखिर प्रदेश में अवैध रेत खनन और निर्दोषों की हत्या कब रुकेगी ?

2012 में भी एक आईपीएस को ट्रैक्टर से कुचला था
मध्य प्रदेश में यह पहला वाकया नहीं है, जब किसी ईमानदार अफसर को खनन माफिया के हाथों अपनी जान गंवानी पड़ी हो। इससे पहले भी 8 मार्च 2012 को इसी क्षेत्र में खनन माफियाओं ने आईपीएस नरेंद्र सिंह को ट्रैक्टर से कुचलकर मौत के घाट उतार दिया था। उस दौरान भी आईपीएस अफसर नरेंद्र सिंह अवैध खनन की सूचना मिलने पर कार्रवाई करने पहुंचे थे, जहां आरोपियों ने उन पर ट्रैक्टर चढ़ा दिया था।

खबरें और भी हैं...