दैनिक भास्कर हिंदी: 498.50 करोड़ के फर्जी चालान रैकेट का पर्दापाश

January 9th, 2021

डिजिटल डेस्क, नागपुर।  डायरेक्टर जनरल ऑफ जीएसटी इंटेलिजेंस (डीजीजीआई) की नागपुर जोनल यूनिट ने महाराष्ट्र भर में जांच अभियान चलाकर 498.50 करोड़ के फर्जी चालान रैकेट का पर्दापाश करते हुए एक आरोपी को गिरफ्तार किया है। डीजीजीआई ने कार्रवाई के दौरान ही घटनास्थल से नगद 12.78 करोड़ बरामद भी किए। इस फर्जी चालान रैकेट के गोरखधंधे में 26 संस्थाएं शामिल हैं, जो केवल कागज पर ही ट्रांजेक्शन दिखाती थीं, जबकि वास्तव में डीजीजीआई को कोई ट्रांजेक्शन दिखाई नहीं दिया। डीजीजीआई नागपुर यूनिट पिछले एक पखवाड़े से फर्जी चालान रैकेटे के खिलाफ सर्चिंग व जांच अभियान चला रहा है।

सिर्फ कागज पर ही मिला व्यापार व ट्रांजेक्शन
जांच के दौरान पाया गया कि, कवर की गई इकाइयाँ सुपारी और कोयला से लेकर टेक्सटाइल और आयरन व स्टील उत्पादों तक कई प्रकार के कर योग्य सामानों का व्यापार कर रही थीं। यह व्यापार व ट्रांजेक्शन केवल कागज पर ही दिखाई दे रहे थे, जबकि इनका अस्तित्व ही नहीं था। इन संस्थाओं ने जीएसटी पोर्टल पर इलेक्ट्रिसिटी बिल्स और रेंटल एग्रीमेंट के दस्तावेज अपलोड किए थे, जो फर्जी निकले। जिन संस्थाओं से ट्रांजेक्शन व संबंध बताया गया, उनके अधिकृत व्यक्तियों से पूछताछ करने पर खुलासा हुआ कि, इन संस्थाओं ने किसी भी माल की प्राप्ति के बिना इनपुट टैक्स क्रेडिट का लाभ उठाने के लिए फर्जी चालान (इनवायस) का सहारा लेकर सरकार के साथ धोखाधड़ी की। फर्जी चालान के माध्यम से 89.73 करोड़ का ट्रांजेक्शन पर लाभ भी उठाया।

धोखाधड़ी में 26 संस्थाएं शामिल
फर्जी चालान के माध्यम से 498.50 करोड़ की धोखाधड़ी की गई, जिसमें 26 संस्थाएं शामिल है। मौके से 12.78 करोड़ बरामद किए गए हैं। एक आरोपी को गिरफ्तार किया गया है। आरोपी से कड़ाई से पूछताछ जारी है। फर्जी चालान रैकेट में आैर भी नामों का खुलासा होने की उम्मीद है।