वर्धा: हिंदी यूनिवर्सिटी में दूसरे दिन भी आई प्रवेश परीक्षा देने में दिक्कत

October 12th, 2021

डिजिटल डेस्क, वर्धा। हिंदी यूनिवर्सिटी  में पीएचडी द्वितीय प्रवेश परीक्षा में विद्यार्थियों को फिर परीक्षा देने में समस्या हुई। इसके चलते यूनिवर्सिटी प्रशासन ने कुलसचिव को ईमेल करने की बात दोहराई है तथा आगे विचार किया जाएगा ऐसा जवाब दिया गया। एक दिन पहले प्रथम पीएचडी परीक्षा ली जाएगी या नहीं इसके बारे में अब तक कोई विवि ने जानकारी नहीं दी है जिसके चलते देश के दूर राज्य के हजारों विद्यार्थियों का करियर दांव पर लगा है। बता दें कि विवि में रविवार 10 अक्टूबर से पीएचडी प्रवेश परीक्षा प्रारंभ हुई है। जिसके चलते रविवार को एक ही वक्त  पर 22 विषयों के 1738 विद्यार्थी प्रथम परीक्षा ऑनलाइन माध्यम से दिए थे। परंतु विश्व विद्यालय के सर्वर की त्रुटि के वजह से बहुत विद्यार्थी परीक्षा देने से वंचित रहे।
 
परीक्षा छूटने पर जिम्मेदार कौन ? : विद्यार्थियों को सूचित किया गया था कि  इंटरनेट का डाटा 2 जीबी रखने तथा डिवाइस खराब होने या नेटवर्क में समस्या जैसे तकनीकी समस्या के लिए विद्यार्थी पूरी तरह से जिम्मेदार रहेगा तथा विवि प्रशासन की कोई जिम्मेदारी नहीं रहेगी परंतु इस समय यूनिवर्सिटी के सर्वर की समस्या होने पर जिम्मेदार कौन? यह सवाल विद्यार्थी उठा रहे हैं ।

सुबह से इस प्रकार चली पीएचडी द्वितीय प्रवेश परीक्षा : हिंदी यूनिवर्सिटी के पीएचडी द्वितीय परीक्षा में सोमवार को 1331 विद्यार्थियों ने तीन शिफ्ट में परीक्षा दी जिसमें सुबह 09:30 से 11:00 में हिंदी साहित्य के 631 व फ़्रांसीसी भाषा के 3 विद्यार्थियों ने परीक्षा दी। द्वितीय शिफ्ट यह दोपहर 01:00 से  02:30 बजे तक था जिसमें जनसंचार के 212, मानव विज्ञान के 9 तथा प्रबंधन के 95 विद्यार्थियों ने परीक्षा दी। तृतीय शिफ्ट यह दोपहर 04:30 से शाम 06:00 बजे थी जिसमें फ़िल्म अध्ययन के 57 व शिक्षाशास्त्र के 265 विद्यार्थियों ने परीक्षा दी।

 

खबरें और भी हैं...