comScore

हुक्के की लत युवाओं को बना रही विकलांग, प्रशासन का नहीं ध्यान

February 20th, 2019 12:48 IST
हुक्के की लत युवाओं को बना रही विकलांग, प्रशासन का नहीं ध्यान

डिजिटल डेस्क, नागपुर।  युवाओं को नशे के गर्त में ले जाकर शारीरिक व मानसिक तौर पर अपंग बना रहे हुक्का के कश पर नियंत्रण नहीं रह गया है। राज्य सरकारी की ओर से पूरी तरह से प्रतिबंधित हुक्का कारोबार पर निगरानी के नाम पर पुलिस व फूड एंड ड्रग्स विभाग के लोग केवल कुछ स्थानों तक पहुंच रहे हैं। हुक्कापान करने वालों को पकड़कर उनके अभिभावकों के नाम पर धमकाते रहते हैं, लेकिन हुक्का कारोबार की मुख्य नब्ज कहलाने वाले हुक्का शीशा तंबाकू के कारोबार को लेकर एक तरह से आंख मूंदे रहने की भूमिका में है। युवा वर्ग को नशे की लत लगाने वाले इस अवैध कारोबार पर सबसे पहले बैन लगाने की मांग की जा रही है।

-9 सितंबर 2017। अकोला जिले के पातूर मार्ग के ढाबे में हुक्का पार्लर पर छापा। बालापुर के शिक्षक समेत 11 विद्यार्थियों को पकड़ा गया। सभी विद्यार्थी महाविद्यालयों के थे। शिक्षक-विद्यार्थी को हुक्का की मोबाइल सेवा उपलब्ध कराई गई थी।

-16 जुलाई 2017। सदर नागपुर के मंगलवारी कांप्लेक्स स्थित चालकोल हुक्का पार्लर में छापामारी। पार्लर की संचालक वैष्णवी महाविद्यालयीन छात्रा निकली। खुलासा यह भी हुआ कि सदर, धरमपेठ में ज्यादातर हुक्का पार्लर की संचालक युवतियां ही हैं।

-15 जुलाई 2015। जरीपटका के इटारसी पुलिया के पास दो मंजिला मकान में छापामारी। गुप्त कमरों में छात्र-छात्राओं को हुक्का सेवा दी जा रही थी। संचालक परेश कोडवानी ने एक ग्रुप बना रखा था। विद्यार्थियों को पढ़ाई के बहाने गुप्त कमरों में हुक्का पिलाया जाता था।

-6 जुलाई 2017। लॉ कालेज चौक के पास एक अपार्टमेंट में छाबरा नामक व्यक्ति के हुक्का पार्लर पर छापा मारा गया। खुलासा हुआ कि कालेज के छात्र-छात्राओं काे नियोजित तरीके से नशे का आदी बनाया जाता है।

-5 जुलाई 2017- सदर क्षेत्र के छावनी चौक में नई कार में हुक्का पाट व नशे की सामग्रियां बरामद की गई। रात 3.30 बजे पुलिस ने कार की तलाशी ली थी। अक्षय थामस (32) निवासी गोरेवाड़ा को पकड़ा गया।
 

कमेंट करें
kWAe3