दैनिक भास्कर हिंदी: शराबी पिता ने कुएं में फेंक अपने ही बेटों को उतारा मौत के घाट

October 12th, 2018

डिजिटल डेस्क, नागपुर। एक शराबी पिता ने अपने दो मासूम बेटों को कुएं में फेंक कर उनकी हत्या कर दी। मृतक बच्चों में एक 3 साल और एक 7 साल का है। उनके नाम प्रिंस मेश्राम और हर्ष मेश्राम हैं। हर्ष पहली कक्षा में राजीव नगर की सरलादेवी स्कूल में पढ़ता था। उसका छोटा भाई प्रिंस अभी 3 साल का था। एमआईडीसी पुलिस ने आरोपी पिता संतोष मेश्राम को गिरफ्तार कर लिया है। दोनों बेटों की हत्या करने के बाद संतोष भी आत्महत्या करना चाहता था, लेकिन वह हिम्मत नहीं जुटा पाया। आरोपी नशे का आदी है और पत्नी सरिता के चरित्र पर शक करता था, इसलिए सरिता एक वर्ष पहले अपने दोनों बेटे हर्ष और प्रिंस को लेकर नागपुर आ गई थी। उसकी बहन रंजना मेश्राम और बहनोई के सहारे सरिता राजीव नगर में किराए के मकान में रहने लगी थी। 

घूमाने के बहाने ले गया घर से
हर्ष और प्रिंस को लग रहा था कि उसके पिता उसे घूमाने ले जा रहे हैं। उन्हें क्या मालूम था कि वह उनकी हत्या करने ले जा रहा है। पुलिस ने बताया कि संतोष मेश्राम मूलत: किन्ही ककोडी बालाघाट मध्यप्रदेश का निवासी है। वह सरिता के साथ उसके चरित्र पर शक कर मारपीट करता था।  हमेशा की तरह सरिता ने अपने दोनों बेटों को बहन रंजना के घर पर छोड़ा और कंपनी में काम करने चली गई। उसकी बहन के घर पर आरोपी संतोष पहुंचा और दोनों बेटों को लेकर चला गया। उसके बाद उनकी हत्या कर दी। दिलदहला देने वाली घटना को अंजाम देने वाले आरोपी को सरिता ने बस्तीवालों की मदद से पकड़कर रखा नहीं, तो वह फरार हो जाता था। पुलिस ने दोनों मासूम बच्चों का शव कुएं से निकाला।

काम पर गई थी सरिता पता चलते ही दौड़कर आई
सरिता एमआईडीसी की कंपनी में मजदूरी कर अपने दोनों बेटों की परवरिश कर रही थी। बुधवार को वह ड्यूटी पर जाते समय बेटे हर्ष और प्रिंस को बहन के घर पर छोड़ कर गई थी। संतोष अपने साढ़ू के घर गया और रंजना से कहा कि वह दोनों बच्चों को भोजन कराने ले जा रहा है। रंजना को लगा कि वह सचमुच अपने बच्चों काे कमरेे पर ले जा रहा है। रंजना से कुछ दूरी पर ही सरिता का किराए का कमरा था। रंजना जब यह बात सरिता को बताई कि उसका पति संतोष उसके दोनों बेटों को लेकर गया है, तब सरिता कंपनी का काम छोड़ कर घर पहुंची। उसे रास्ते में संतोष दिखाई दिया। सरिता ने पूछताछ शुरू की, लेकिन वह कुछ नहीं बोला।

संतोष पत्नी सरिता के पास करीब 6 महीने पहले बालाघाट से आकर रह रहा था। उसने सरिता से विवाद होने पर कहा था कि वह उसके बच्चों काे मार डालेेगा। सरिता उससे पूछती रही कि वह उसके बेटों को कहां ले गया, लेकिन वह कुछ नहीं बताया। आखिर मामला एमआईडीसी थाने में पहुंच गया। तब पुलिस ने संतोष को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू की। करीब 5 घंटे बाद उसने पुलिस को बताया कि वह दोनों बेटों को राजीव नगर से करीब 3 किलोमीटर दूर बाबा टेकड़ी परिसर में कुएं के अंदर फेंक दिया है। पुलिस वहां पहुंची तो प्रिंस और हर्ष का शव कुएं के अंदर पानी में पड़ा था। एमआईडीसी पुलिस ने आरोपी संतोष मेश्राम को अपने बेटों की हत्या करने के आरोप में मामला दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया है। 

खबरें और भी हैं...