दैनिक भास्कर हिंदी: ड्रम में छिपा रखी थी रेल नीर की नकली बोतलें, आरपीएफ ने की कार्रवाई

April 26th, 2019

डिजिटल डेस्क, नागपुर। गर्मी इन दिनों अपने पूरे शबाब पर है। गर्मी के कारण हाय तौबा मची हुई है । लोग राहत पाने के उपाय खोज रहे हैं। ऐसे में ट्रेन से सफर करने वालों की हालत भीषण गर्मी में और खराब हो जाती है खासतौर पर जनरल व स्लीपर कोच के यात्रियों को हर स्टेशन पर ठंडा पानी तलाशते देखा जा रहा है। इसी का फायदा अवैध धंधे करने वाले उठा रहे हैं। नागपुर रेलवे स्टेशन परिसर में रेल नीर की करीब 150 नकली बोतलें मिली हैं। इसे एक ड्रम के अंदर बर्फ में छिपाया गया था। ड्रम को भी जमीन के अंदर गहरे में रखा गया था। आरपीएफ ने इस ड्रम को जब्त कर लिया है।

नागपुर स्टेशन पर इस तरह नकली पानी की बोतलें मिलना स्टेशन पर अवैध वेंडरों के फलते-फूलते कारोबार को पुष्टि करता है। रोज की तरह स्टेशन पर आरपीएफ की टीम उपनिरीक्षक जी.एस एडले, प्रधान आरक्षक एन.पी. वासनिक, आरक्षक जसवीर सिंह, आरक्षक दीपक पवार, आरक्षक शकील शेख, आरक्षक बी.बी. यादव आदि गश्त पर थे। मुंबई एंड की ओर एनएमसी पुलिया व लिंक केबिन के बीच उन्हें गहरे जमीन में एक ड्रम दिखाई दिया। ड्रम की जांच करने पर उसमें पानी से भरी रेल नीर की 150 बोतलें दिखाई दीं। वहीं 50 पानी की खाली बोतल भी मिलीं। यही नहीं, 100 बोतल के ढक्कन भी मिले। 

ऐसा होता है
नागपुर स्टेशन से रोजाना एक सौ से अधिक गाड़ियां चलती हैं। गर्मियों के कारण यात्रियों में इन दिनों पानी की मांग बढ़ गई है। ऐसे में हर बार नकली पानी का कारोबार चलता है। इस बार इसी तरह पानी की कालाबाजारी दिख रही है। दरअसल, नागपुर मंडल अंतर्गत गाड़ियों में व स्टेशनों पर रेल नीर ही बेचने के निर्देश हैं। ऐसे में कुछ लोग रेल नीर की खाली बोतलों को इकठ्‌ठा करते हैं। फिर इन पर सफेद रंग के ढक्कन लगाकर इसे नई बोतल कहकर बेचते हैं। आए दिन यात्रियों से धोखाधड़ी की जाती है। गर्मी के दिनों में ठंडा पानी की मांग बढ़ जाती है इसलिए यह धंधा काफी चलता है। आरपीएफ द्वारा कार्रवाई किए जाने के बावजूद कुछ ही दिनों में स्थिति ज्यों की त्यों हो जाती है।