comScore

नागपुर में बेहद महंगी है बिजली : दिल्ली, हरियाणा, गुजरात, मध्यप्रदेश व पंजाब को पीछे छोड़ा

नागपुर में बेहद महंगी है बिजली : दिल्ली, हरियाणा, गुजरात, मध्यप्रदेश व पंजाब को पीछे छोड़ा

डिजिटल डेस्क, नागपुर। बिजली बिल को लेकर नागपुर सहित राज्य में मचे हंगामे के बीच यह देखना भी जरूरी है कि नागपुर में बिजली के दाम कितने है। राज्य में मुंबई व मुंबई से सटे इलाके में निजी कंपनियां विद्युत आपूर्ति कर रही है, जबकि नागपुर सहित शेष महाराष्ट्र में सरकारी कंपनी महावितरण उपभोक्ताओं को विद्युत आपूर्ति कर रही है। नागपुर में उपभोक्ताओं को जो बिजली मिल रही है, उसके दाम दिल्ली, हरियाणा, गुजरात, मध्यप्रदेश व पंजाब से अधिक है। यहां यूनिट के स्लैब बनाकर बिजली सस्ती होने का दावा तो किया जाता है, लेकिन उस पर जो आकार व शुल्क लगाया जाता है, उससे उपभोक्ता को बिजली के दाम ज्यादा चुकाने पड़ते हैं। जिले के कोराडी व खापरखेड़ा आैष्णिक ऊर्जा केंद्र में बिजली का उत्पादन होता है। 

विद्युत शुल्क 16 फीसदी
महाराष्ट्र विद्युत नियामक आयोग (एमईआरसी) के आदेश पर महावितरण ने घरेलु उपभोक्ताआें के लिए 0 से 100 यूनिट तक प्रति यूनिट 3 रुपए 46 पैसे, 101 से 300 यूनिट तक प्रति यूनिट 7 रुपए 43 पैसे, 301 से 500 यूनिट तक प्रति यूनिट 10 रुपए 32 पैसे, 501 से 1000 यूनिट तक प्रति यूनिट 11 रुपए 71 पैसे के हिसाब से बिजली बिल की वसूली होती है। इसके अलावा स्थिर आकार 110 रुपए, वहन आकार 1 रुपए 45 पैसे प्रति यूनिट व विद्युत शुल्क 16 फीसदी लिया जाता है। नागपुर में 43 यूनिट बिजली की खपत होने पर 372 रुपए बिल आता है, यानी सभी प्रकार के आकार व शुल्क पकड़कर बिजली प्रति यूनिट 8 रुपए 65 पैसे पड़ी। इसी तरह 132 यूनिट बिजली की खपत होने पर 1010 रुपए बिजली बिल आता है, यानी प्रति यूनिट 7 रुपए 65 पैसे पड़ती है। अगर दिल्ली, हरियाणा, अहमदाबाद, भोपाल व मोहाली के बिजली बिलों पर नजर डालें तो सभी प्रकार के कर, शुल्क व आकार मिलाने के बावजूद बिजली सस्ती पड़ रही है। 

एक नजर दूसरे प्रदेशों की यूनिट दर पर
पानीपत (हरियाणा) - 1116 यूनिट बिजली खर्च होने पर 7023 रुपए बिजली बिल यानी प्रति यूनिट 6 रुपए 29 पैसे।
दिल्ली -653 यूनिट बिजली खर्च होने पर 4128 रुपए बिजली बिल यानी प्रति यूनिट 6 रुपए 32 पैैसे।
अहमदाबाद (गुजरात)-  189 यूनिट बिजली खर्च होने पर 1290 रुपए बिजली बिल यानी प्रति यूनिट 6 रुपए 82 पैसे। 
भोपाल (मध्यप्रदेश)- 171 यूनिट बिजली खर्च होने पर 1206 रुपए बिजली बिल यानी प्रति यूनिट 7 रुपए 05 पैसे।
मोहाली (पंजाब)- 229 यूनिट बिजली खर्च होने पर 1770 रुपए बिजली बिल यानी प्रति यूनिट 7 रुपए 72 पैसे।

यहां कोई छूट नहीं
छत्तीसगढ़ में 400 यूनिट तक आधा बिल आैर दिल्ली में 100 यूनिट (एक महीने में) तक बिजली बिल माफ है, वहीं नागपुर में घरेलु उपभोक्ताआें को बिजली बिल में किसी तरह की सब्सिडी या छूट नहीं है। 

वादा है वादे का क्या
राज्य सरकार ने कोरोनाकाल में बिजली बिल में रियायत देने की बात कही थी। ऊर्जा मंत्री डा. नितीन राऊत ने भी इस दिशा में कदम उठाए जाने की जानकारी दी थी, लेकिन सरकार ने स्पष्ट कर दिया कि आर्थिक हालात को देखते हुए बिजली बिल में कोई रियायत या सब्सिडी नहीं दी जाएगी। ऊर्जा मंत्री डा. राऊत ने हाल ही में यह कहा कि केंद्र से 10 हजार करोड़ की आर्थिक सहायता मिल गई होती, तो उपभोक्ताआें को बिल में रियायत दी जाती।

कमेंट करें
BuhQt