comScore

 पीएफआई को कोरोना संक्रमित मुस्लिमों के शव सौंपने के फैसले का फडणवीस ने किया विरोध

 पीएफआई को कोरोना संक्रमित मुस्लिमों के शव सौंपने के फैसले का फडणवीस ने किया विरोध

डिजिटल डेस्क, मुंबई।  विधानसभा में विपक्ष के नेता देवेंद्र फडणवीस ने मुंबई मनपा के पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) को लेकर जारी किए गए एक आदेश को लेकर मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से सवाल किए हैं। फडणवीस ने कहा कि मुंबई मनपा ने 18 मई को आदेश जारी किया है जिसमें कोरोना के कारण मरने वाले मुस्लिम व्यक्तियों के शवों को पीएफआई को सौंपने को कहा है। फडणवीस ने कहा कि मुंबई मनपा का फैसला हैरानी भरा है। उन्होंने कहा कि देश विरोधी कृत्य करने वाले संगठन को इस प्रकार का काम सौंपना कितना सही है, इसका जवाब मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को देना चाहिए। अगर मुख्यमंत्री को मुंबई मनपा का यह फैसला मंजूर नहीं है तो क्या वे फैसला लेने वाले संबंधित अधिकारी के खिलाफ कार्रवाई करेंगे।फडणवीस ने कहा कि केरल, झारखंड, उत्तर प्रदेश और कर्नाटक में पीएफआई पर प्रतिबंध लगाने की कार्रवाई चल रही है।

पीआईएफ पर देशभर में दंगे कराने का आरोप
फडणवीस ने कहा कि नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के खिलाफ देश में जो दंगे हुए थे उन दंगों में फंड देने का काम इस संगठन ने किया है। इस संबंध में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने आरोप पत्र तैयार किया है। ईडी ने कुछ खाते भी सामने लाए हैं। इससे पहले फडणवीस ने एक ट्वीट किया जिसमें उन्होंने मुंबई मनपा के स्वास्थ्य विभाग द्वारा पीएफआई के चार सदस्यों कीटॉस्क फोर्स टीम बनाने के आदेश का उल्लेख किया है। पीएफआई के चार समन्वयक बनाए गए हैं। मनपा ने अस्पताल प्रमुख से कहा है कि पीएफआई के समन्वयक मुस्लिमों के शवों को दफनाने में मदद करेंगे।  कोई विवाद होता है तो मुंबई मनपा को अंतिम फैसला लेने का अधिकार होगा।

कमेंट करें
eM6rP