comScore

बांबू विकास मंडल में फर्जी नियुक्तियां , गिरोह ऐंठ रहा था माल  

बांबू विकास मंडल में फर्जी नियुक्तियां , गिरोह ऐंठ रहा था माल  

डिजिटल डेस्क, नागपुर। नौकरी के नाम पर आए दिन ठगी के मामले में सामने आते रहते हैं बावजूद इसके लोग झांसे में आकर अपनी गाढ़ी मेहनत की कमाई गंवा बैठते हैं । ऐसा ही एक मामला बांबू विकास मंडल में  सामने आया है। यहां फर्जी नियुक्तियां होने का खुलासा खुद वन विभाग ने किया है। नौकरी के नाम पर बेरोजगारों से ठगी के मामले थमने का नाम नहीं ले रहे हैं। इस प्रकरण में किसी संगठित गिरोह का हाथ बताया जा रहा है।  

मामला दर्ज, जांच जारी
राज्य सरकार के वन विभाग अंतर्गत नेशनल रूरल बांबू मिशन एंड रिसर्च इंस्टीट्यूट कार्यरत है। इसके एक सेंटर बोथली, उमरेड कार्यालय ने बांबू विकास मंडल में बोगस नियुक्तियां होने का खुलासा किया है। इस सेंटर में बांबू प्रकल्प के लिए कुछ उम्मीदवारों को नियुक्ति-पत्र जारी किया गया था, लेकिन यह सारी नियुक्तियांं फर्जी हैं। खुलासा करते हुए खुद वन विभाग के इस कार्यालय की ओर से गणेशपेठ पुलिस स्टेशन में मामला भी दर्ज कराया गया है। जांच जारी है। 

ऐसा कोई नियुक्ति पत्र जारी नहीं 
दर्ज मामले के अनुसार, नागपुर जिले के उमरेड तहसील में आने वाले वन विभाग के बाेथली कार्यालय ने ऐसा कोई नियुक्ति पत्र जारी नहीं किया। ऐसे में जिनके पास नियुक्ति पत्र है, वह फर्जी ही हैं। 

धोखेबाजों से सतर्क रहने की अपील 
विभाग ने किसी भी प्रकार के प्रलोभन में नहीं आते हुए धोखेबाजों से सतर्क रहने की अपील की है। साथ ही कहा गया है कि जिन्हें नियुक्ति पत्र या आदेश मिले हैं, वे महाराष्ट्र बांबू विकास मंडल में संपर्क कर सकते हैं। धोखाधड़ी करने वालों के खिलाफ पुलिस में शिकायत करने की अपील भी की गई। वन विभाग के खुलासे से नौकरी मिलने की खुशी मना रहे युवा हैरान हैं।  गौरतलब है कि विगत दिनों वेकोलि में नौकरी लगाने के नाम पर वहां के एक पूर्व चपरासी ने कुछ लोगों से लाखों रुपए ऐंठ लिए थे। अभी उस मामले की जांच चल ही रही है और एक मामला सामने आया है।


 

कमेंट करें
cu0Qh