दैनिक भास्कर हिंदी: बिजली कनेक्शन के लिए इंजीनियर और कम्प्यूटर ऑपरेटर मांग रहा था रिश्वत, FIR दर्ज

April 5th, 2019

हाईलाइट

  • नया मीटर लगाने के नाम पर कम्प्यूटर ऑपरेटर और जूनियर इंजीनियर मांग रहे थे 8 हजार की रिश्वत
  • लोकायुक्त की टीम ने कम्प्यूटर ऑपरेटर और जूनियर इंजीनियर के खिलाफ FIR दर्ज की

डिजिटल डेस्क परासिया, छिंदवाड़ा। जबलपुर लोकायुक्त की टीम ने गुरुवार को कुंडालीकला विद्युत वितरण केंद्र में दबिश देकर नया मीटर लगाने के नाम पर 8 हजार रुपए की रिश्वत लेने वाले कम्प्यूटर ऑपरेटर को पकड़ लिया। कम्प्यूटर ऑपरेटर के माध्यम से वितरण केंद्र के जूनियर इंजीनियर ने यह रिश्वत मांगी थी। दबिश के बाद लोकायुक्त टीम ने जूनियर इंजीनियर व कम्प्यूटर ऑपरेटर दोनों के खिलाफ FIR दर्ज की। लोकायुक्त टीम ने बताया, दोनों लंबे समय से उपभोक्ताओं से रिश्वत की मांग करते आ रहे हैं।

यह है मामला-

आवेदक परसोली निवासी शेर खान पिता रहीम खान ने शिकायत की थी कि विगत दो माह से अपने मकान की प्रथम मंजिल पर नया मीटर लगवाने कार्यालय के चक्कर काट रहे हैं।  जिसके लिए उससे 9 हजार 500 रुपए की रिश्वत मांगी गई। गुरूवार को आवेदक पुन: विद्युत वितरण केन्द्र कुंडालीकला पहुंचा। कार्यालय में मौजूद कनिष्ठ यंत्री ने उसे कम्प्यूटर ऑपरेटर के पास भेजा। वहीं कम्प्यूटर ऑपरेटर ने कनिष्ठ यंत्री के नाम पर उपभोक्ता से 8 हजार रुपए मांगे।

शेर खान ने जैसे ही रुपए दिए, उसी दौरान लोकायुक्त की टीम ने दबिश देकर कम्प्यूटर ऑपरेटर और कनिष्ठ यंत्री को पकड़ लिया। बताया जाता है कि कनिष्ठ यंत्री और कम्प्यूटर ऑपरेटर दोनों लंबे समय से उपभोक्ताओं से रिश्वत की मांग करते आ रहे हैं, लेकिन उनके खिलाफ शिकायत न होने से कार्रवाई नहीं हो सकी है। शिकायत के बाद लोकायुक्त ने कार्रवाई करते हुए रिश्वत की राशि के साथ रंगेहाथों गिरफ्तार किया है।

इन्होंने की कार्रवाई-

कार्रवाई करने वाली जबलपुर लोकायुक्त की टीम में पुलिस उप अधीक्षक जेपी वर्मा, निरीक्षक आस्कर किंडो, उपनिरीक्षक नरेश बेहरा, आरक्षक जुबैद खान, राकेश विश्वकर्मा, सोनू चौकसे शामिल रहे।  

इनका कहना है-

इस मामले में लोकायुक्त अनिल विश्वकर्मा का कहना है की, दोषी वयक्ति के खिलाफ प्रकरण दर्ज कर लिया है। इस मामले में जांच की जा रही है।