comScore

जिनिंग में आग, कपास के ढेर में फंसकर शख्स की मौत

जिनिंग में आग, कपास के ढेर में फंसकर शख्स की मौत

डिजिटल डेस्क, नागपुर। नरखेड़ तहसील के ग्राम घोगरा के दान कोटेड इंडस्ट्रीज में शॉर्ट-सर्किट से  आग लग गई। हादसे में लोहारा निवासी किसना दत्तूजी गोरे (38) की कपास के ढेर में फंसने से जलकर मौत हो गई। अन्य मजदूर वहां से भागकर अपनी जान बचाने में सफल हो गए। कपास के ढेर में फंसे किसना को काटोल के अग्निशमन अधिकारी समीर गणवीर ने अपनी जान पर खेलकर  बाहर निकाला, लेकिन बुरी तरह झुलसने से वह पहले ही दम तोड़ चुका था।

16 मई से शुरू हुई थी शासकीय कपास खरीदी
लॉकडाउन में कपास खरीदी बंद होने से शासकीय कपास खरीदी शुरू करने की मांग को देखते हुए  राज्य के गृहमंत्री तथा जिप सदस्य सलिल देशमुख के प्रयासों से जिनिंग को कॉटन फेडरेशन की ओर से 16 मई से शासकीय कपास खरीदी शुरू की गई। रोजाना करीब 30 से 40 गाड़ी कपास खरीदी हो रही थी। हादसे में लगभग 12 हजार क्विंटल कपास, एक से डेढ़ हजार कपास की गांठ, जिनिंग की मशीनरी तथा एक ट्रैक्टर जलकर खाक हो गया। हादसे मंे करोड़ों का नुकसान होने का अनुमान है। सूचना मिलते ही नरखेड़, मोवाड़, काटोल, वरुड़, आष्टी से दमकल की गाड़ियां मौके पर पहुंची। तहसीलदार हरीश गाडे, पंस सभापति नीलिमा रेवतकर, जलालखेड़ा के थानेदार दीपक डेकाटे, कृउबास सभापति बबनराव लोहे, राजस्व विभाग, वन विभाग, स्वास्थ्य विभाग, महावितरण कंपनी के अधिकारी व कर्मचारी उपस्थित थे।

कमेंट करें
Le8a4