दैनिक भास्कर हिंदी: UP: CAA विरोध प्रदर्शन के दौरान की गई फायरिंग, हथियार बरामद

December 22nd, 2019

हाईलाइट

  • मामले में पुलिस ने किए देसी कट्टे और पिस्तौल बरामद
  • हिंसक प्रदर्शनों में अब तक जा चुकी 16 लोगों की जान
  • प्रदेश के कई इलाकों में धारा 144 लागू

डिजिटल डेस्क, लखनऊ। संसद द्वारा 11 दिसंबर को नागरिकता संशोधन एक्ट (CAA) पारित किए जाने के बाद से देशभर में कोहराम मचा हुआ है। सीएए के खिलाफ देश के विभिन्न हिस्सों में हो रहे हिंसक प्रदर्शनों में अब तक कई लोगों ने अपनी जान गंवा दी हैं। इसी बीच उत्तर प्रदेश  में प्रदर्शनकारियों ने आगजनी और फायरिंग की। मामले में यूपी पुलिस ने 405 देसी कट्टे और पिस्तौल बरामद किए हैं। बता दें कि प्रदेश में धारा 144 लागू है और विरोध के चलते 16 लोगों ने जान गंवा दी है।

वहीं राजधानी लखनऊ की सीनियर पुलिस अधीक्षक कलानिधि नैथानी ने शनिवार को बताया कि वीडियो फुटेज और फोटोज के आधार पर करीब 250 लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है। प्रदर्शनकारियों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी भी की जा रही है। इसके अलावा इन असमाजिक तत्वों पर प्रशासन उनकी संपत्ति जब्त करने की तैयारी कर रहा है। गौरतलब है कि प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदर्शनकारियों को सख्त हिदायत देते हुए कहा था कि सरकारी संपत्ति को क्षति पहुंचाने वाले लोगों की संपत्ति जब्त की जाएगी।

क्या है CAA?

CAA वह अधिनियम है, जो पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बांग्लादेश जैसे इस्लामिक देशों से भगाए गए गैर मुसलमानों को पनाह देगा। अधिनियम के मुताबिक 31 दिसंबर 2014 को या उससे पहले जिन भी हिंदुओं, सिखों, जैनों, पारसियों, बौद्धों और ईसाईयों ने पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बांग्लादेश से धार्मिक उत्पीड़न के कारण भारत की पनाह ली हैं, उन्हें भारत की नागरिकता प्रदान करने की कोशिश की जाएगी।