दैनिक भास्कर हिंदी: शीतसत्र के लिए नागपुर में बाहर से बुलाए गए पुलिस जवानों को 10 रुपए में भोजन

December 16th, 2019

डिजिटल डेस्क, नागपुर। संतरा नगरी में शीतकालीन अधिवेशन सोमवार से शुरू हो गया है। इस अधिवेशन में 6000 पुलिसकर्मियों को बंदोबस्त में लगाया गया है। जिसमें 2000 पुलिस कर्मचारी राज्य के अलग-अलग जिलों से बुलाए गए हैं। पुलिसवालों ने 10 रुपए थाली में भर पेट खाना खाया। आपको बतादें इन कर्मचारियों के रहने और खाने का इंतजाम नागपुर पुलिस विभाग की ओर से किया गया है । पुलिस बंदोबस्त में तैनात पुलिस जवानों को रोजाना 10 रुपए में भोजन दिया जा रहा है। इसके लिए उन्हें जिस जगह पर बंदोबस्त में लगाया गया है, वहीं पर उन्हें गर्म भोजन देने की व्यवस्था शहर पुलिस आयुक्त डॉ भूषण कुमार उपाध्याय ने की है।

डॉ. उपाध्याय ने  बताया कि पहले जब भी शीतकालीन अधिवेशन होता था तब पुलिस के वाहन में भोजन को रखकर बंदोबस्त स्थल पर भेजा जाता था उस समय खाना बनने से लेकर बंदोबस्त स्थल तक पहुंचने पर पूरी तरह से भोजन ठंडा हो जाता था जिससे जवानों को ठंडा भोजन ही मिल पाता  था इसके लिए इस बार यह विकल्प निकाला गया है कि बंदोबस्त में तैनात पुलिस जवानों को गर्म भोजन मिल सके इसलिए शहर में 5 स्थानों पर तैनात किए गए पुलिस जवानों को गर्म -गर्म भोजन परोसने की व्यवस्था की गई है जिसके चलते सोमवार को विधानभवन के सामने लगे स्टाल पर पुलिस जवानों ने 10  रुपए का कूपन देकर भोजन लिया।

प्रत्येक पुलिस जवान को 10 रुपए का कूपन शीतकालीन सत्र चलने तक दिया जाएगा । इस कूपन का उपयोग कर वे भोजन हासिल कर सकेंगे। इससे उन्हें भोजन के लिए ज्यादा इंतजार नहीं करना पड़ेगा । नागपुर में एक बार कुछ विशेष स्थानों पर बंदोबस्त में तैनात किए जाने वाले जवानों को जब तक अधिवेशन समाप्त नहीं हो जाता तब तक उन्हें बाहर जाने के लिए समय नहीं मिल पाता है  इससे उन्हें भोजन के लिए कई बार तरसना पड़ता था और वह भूखे पेट बंदोबस्त नहीं करेगे।

महगाई में सस्ता भोजन


महंगाई के इस दौर में नागपुर पुलिस द्वारा ₹0 रुपए में भोजन उपलब्ध कराने को लेकर विभाग की सराहना तो हो ही रही है साथ में ही गर्म भोजन बंदोबस्त स्थल पर पहली बार मिलने से पुलिस जवानों में अच्छा खासा उत्साह भी देखा जा रहा है । पुलिस जवानों का कहना है कि पिछले कई साल से वे बंदोबस्त में आ रहे थे लेकिन पहली बार उन्हें बंदोबस्त स्थल पर गर्म भोजन दिया जा रहा है इससे उन्हें बेहद खुशी हो रही है।