comScore

टायलेट के पानी से बनाया जा रहा था खाना, भड़के स्टूडेंट्स तो प्राचार्य पर गिरी गाज

टायलेट के पानी से बनाया जा रहा था खाना, भड़के स्टूडेंट्स तो प्राचार्य पर गिरी गाज

डिजिटल डेस्क, नागपुर। प्रबोधिनी क्रीड़ा संकुल में खिलाडियों को घटिया भोजन देने के मामले में प्राचार्य सुभाष रेवतकर से तुरंत प्रभाव से अगले आदेश तक प्राचार्य का पदभार हटा लिया गया है। जिला क्रीडा अधिकारी अविनाश पुंड को प्रभारी प्राचार्य बनाया गया है। जिस मेस से खिलाडियों को भोजन मिलता था, उसके टर्मिनेशन की प्रक्रिया शुरू हो गई है। याद रहे मानकापुर स्थित प्रबोधिनी क्रीडा़ संकुल में रहनेवाले खिलाडियों ने भोजन में शौचालय का पानी मिलाने का आरोप लगाते हुए इसकी शिकायत प्राचार्य सुभाष रेवतकर से की थी। शिकायत को गंभीरता से नहीं लेते हुए खिलाडियों के साथ मारपीट करने का आरोप प्राचार्य पर लगा था। इसकी शिकायत मानकापुर थाने में भी की गई है।

जिलाधीश अश्विन मुदगल ने पूरे मामले को गंभीरता से लेते हुए तुरंत टीम मौके पर भेजी। जांच टीम ने मेस में बने भोजन, भोजन के लिए इस्तेमाल होनेवाले पानी, क्रीडा सामग्री व रहने की व्यवस्था का जायजा लिया। जांच में पता चला कि यहां वाटर फिल्टर शुरू नहीं है। पीने के शुध्द पानी की पर्याप्त व्यवस्था नहीं है। रहने की व्यवस्था में भी काफी खामियां पाई गई। जिलाधीश मुदगल ने इसे गंभीरता से लेते हुए क्रीडा आयुक्त को इस मामले से अवगत कराया। खिलाडियों के साथ दुर्व्यवहार व मारपीट की सूचना होने की भी जानकारी दी। क्रीड़ा आयुक्त पूणे के आदेश पर सुभाष रेतवकर से तुरंत प्राचार्य की जिम्मेदारी हटा दी गई। अगले आदेश तक वे किसीप्रकार के दिशानिर्देश या दखलंदाजी नहीं कर सकेंगे। जिला क्रीडा अधिकारी अविनाश पुंड को प्रभारी प्राचार्य बनाया गया है।

इसके अलावा मेस को बंद करने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। मेस टर्मिनेट होगी और इसकी जगह भोजन का ठेका अन्य व्यक्ति को दिया जाएगा। मारपीट व दुर्व्यवहार की जांच पुलिस कर रही है। पुलिस जांच में जो नतीजे आएंगे, उसके आधार पर सुभाष रेवतकर पर कार्रवाई की जाएगी।
 

जिलाधीश को बताई व्यथा

प्रबोधिनी क्रीडा संकुल के युवा खिलाडियों ने आज जिलाधीश अश्विन मुदगल से मुलाकात कर उन्हें अपनी व्यथा बताई। मांगों का निवेदन सौंपा। संकुल में जारी अनियमितता की जानकारी दी। संकुल में राष्ट्रीय व प्रदेश स्तर के खिलाडी रह रहे है। कई खिलाडियों को राष्ट्रीय स्तर की प्रतियोगिता में पदक मिल चुके है।

खिलाडियों को अच्छा भोजन मिलना ही चाहिए

जिलाधीश अश्विन मुदगल ने साफ कहा कि  खिलाडियों को अच्छा भोजन मिलना ही चाहिए। पिने के पानी, भोजन व रहने की अच्छी व्यवस्था होनी चाहिए। सारे मामले से क्रीड़ा आयुक्त को अवगत किया गया है। प्राचार्य का प्रभार अविनाश पुंड को दिया गया है। मेस का नया ठेकेदार नियुक्त किया जाएगा। घटनास्थल की जांच की गई है। जांच रिपोर्ट में दोषी लोगों पर कार्रवाई होगी। दुर्व्यवहार व मारपीट की जांच पुलिस कर रही है।

40 विद्यार्थी रहते हैं

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार मानकापुर क्षेत्र में प्रबोधिनी क्रीड़ा संकुल है, जहां पर खेल-कूद में रुचि रखने वाले विद्यार्थियों को प्रशिक्षित किया जाता है। इनके रहने और खाने की व्यवस्था सरकारी अनुदान से की जाती है। वर्तमान में प्रबोधिनी क्रीड़ा संकुल में राज्य भर के करीब 40 विद्यार्थी हैं। इन विद्यार्थियों का आरोप है कि छात्रावास में अव्यवस्था का आलम है। शौचालय के पानी से भोजन पकाया जाता है। भोजन भी अच्छा नहीं दिया जाता है। पीने के पानी की पर्याप्त व्यवस्था नहीं है। शौचालय की साफ-सफाई ठीक से नहीं की जाती है। 

13 वर्षीय बालिका से छेड़छाड़

इसके अलावा एक मामले में एमआईडीसी थाना अंतर्गत एक 13 वर्षीय बालिका से छेड़छाड़ का मामला सामने आया है। आरोपी एक विधिसंघर्ष बालक है। फरियादी की शिकायत पर विधिसंघर्ष बालक पर मामला दर्ज किया गया है। रविवार को फरियादी अपनी मां को बुलाने के लिए गई थी। ऐसे में बस्ती में ही रहने वाले आरोपी ने उससे छेड़छाड़ की। इससे आहत होकर बालिका ने घर वालों को घटना की जानकारी दी। जिसके बाद पुलिस में शिकायत दर्ज की गई है।

कमेंट करें
NX73C