comScore

विदेशी युवती ने मेडिकल के छात्र से की 1.43 लाख की ठगी

विदेशी युवती ने मेडिकल के छात्र से की 1.43 लाख की ठगी

डिजिटल डेस्क, नागपुर। फेसबुक पर मित्र बनी लंदन की युवती ने यहां के मेडिकल अंतिम वर्ष के छात्र (25) से 1.43 लाख रुपए की धोखाधड़ी की है। मेडिकल की किताबें सस्ती दरों पर दिलाने का झांसा देकर रकम ऑनलाइन खाते में ले ली गई और किताबें नहीं आईं। छात्र का माथ ठनका तो उसने इस बाबत पूछताछ शुरू की तो उसके होश उड़ गए। खास बात यह है कि धोखाधड़ी के इस पूरे मामले में दिल्ली का भी नाम आ रहा है। अब पीड़ित ने अजनी थाने में धोखाधड़ी का प्रकरण दर्ज कराया है।

8 माह पहले हुई थी दोस्ती
छात्र ने पुलिस को बताया कि 8 माह पहले ही उसकी दोस्ती फेसबुक के माध्यम से मैनचेस्टर (लंदन) निवासी इसाबेला लुसी नामक युवती से हुई थी। धीरे-धीरे बातों का सिलसिला आगे बढ़ा तो एक-दूसरे के प्रोफेशन का पता चला। आरोप है कि इसाबेला लुसी ने बताया कि उसका व्यवसाय शिक्षा से जुड़ा है। सस्ती दरों पर वह मेडिकल की किताबें उपलब्ध करा देगी। 

29 जून को हुई थी बात 
इसाबेला लुसी  ने मेडिकल छात्र से 29 जून को बात की थी। छात्र को उसने बताया कि वह िदल्ली की कस्टम अधिकारी प्रिया शर्मा के माध्यम से मेडिकल की किताबें भेज दी है। इसाबेला ने छात्र के मोबाइल पर फर्जी कस्टम अधिकारी प्रिया शर्मा का मोबाइल नंबर भेजा। इसाबेला पर छात्र ने भरोसा करना शुरू कर दिया था। इसलिए उसने प्रिया शर्मा से फोन पर बात की। प्रिया शर्मा ने छात्र को दिल्ली स्थित एक बैंक के खाताधारक आसिफ खान का खाता नंबर दिया। प्रिया शर्मा ने छात्र से कहा कि यह कस्टम विभाग के प्रमुख हैं। आसिफ खान के बैंक खाते में छात्र ने इंटरनेट बैंकिंग के माध्यम से 29 जून की सुबह 11 बजे 1 लाख 43 हजार रुपए ट्रांसफर कर दिए।

इसाबेला ने भेजी थी फ्रेंड रिक्वेस्ट
इसाबेला ने ही छात्र के फेसबुक पर फ्रेंड रिक्वेस्ट भेजी थी। छात्र ने उसका जवाब दिया और बाद में दोनों के बीच गहरी दोस्ती हो गई। मौका देखकर इसाबेला ने मेडिकल छात्र को झांसे में लिया और धोखाधड़ी कर ली। पीड़ित छात्र ने साइबर सेल में भी शिकायत दर्ज कराई है। 

कमेंट करें
ULcQu