कर्नाटक : मैसूर के गांवों में बाघ को पकड़ने के लिए वन विभाग का अभियान

July 25th, 2022

हाईलाइट

  • वन अधिकारियों का सहयोग

डिजिटल डेस्क, बंगलुरू। कर्नाटक में मैसूर जिले के नंजनगुड तालुक के रिहायशी इलाकों में एक बाघ को पकड़ने के लिए वन अधिकारियों ने सोमवार को एक अभियान शुरू किया।

लोगों ने मदनहल्ली, कनेनुरु और जेपी हुंडी गांवों के आसपास के इलाकों में एक बाघ को देखा है। इसकी शिकायत ग्रामीणों ने वन अधिकारियों से की है।

घटनास्थल पर पहुंचे वन अधिकारियों को बाघ के पैरों के निशान मिले और उन्होंने क्षेत्र में बाघ की आवाजाही की पुष्टि की है। अधिकारियों ने बाघ संरक्षण दस्ते से जुड़े चार पालतू हाथियों और 50 से अधिक कर्मियों की मदद से बाघ को पकड़ने के लिए एक अभियान शुरू किया।

बाघ को पिछले एक सप्ताह से क्षेत्र के विभिन्न स्थानों पर देखा गया है। जेपी हुंडी के पास एक खेत में बाघ ने जंगली सूअर को मार डाला था।

अधिकारियों ने बाघ की गतिविधियों पर नजर रखने के लिए जंगल में विभिन्न स्थानों पर सीसीटीवी कैमरे भी लगाए हैं। ग्रामीण दहशत में हैं और अपने खेतों में नहीं जा पा रहे हैं।

 

आईएएनएस

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ bhaskarhindi.com की टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.