comScore

डिक्की में छिपाकर ले जा रहा था गांजा, भनक लगते ही पुलिस ने पकड़ा-जानिए नागपुर की और भी अहम वारदातें

डिक्की में छिपाकर ले जा रहा था गांजा, भनक लगते ही पुलिस ने पकड़ा-जानिए नागपुर की और भी अहम वारदातें

डिजिटल डेस्क, नागपुर। दोपहिया वाहन की डिक्की में गांजा छिपाकर ले जा रहे एक गांजा विक्रेता को जरीपटका पुलिस ने नारा घाट के पास धरदबोचा। आरोपी का नाम पुरुषोत्तम उर्फ गोल्डी महेश पाहुजा (21), इंदिरा नगर गली नं.-1, जरीपटका निवासी है। आरोपी से आधा किलो गांजा, मोबाइल, नकद 250 रुपए व दोपहिया वाहन सहित 25 हजार रुपए का माल जब्त किया गया है।

पुलिस सूत्रों के अनुसार जरीपटका पुलिस को गुप्त जानकारी मिली कि, एक दोपहिया वाहन पर सवार व्यक्ति गांजा लेकर जा रहा है। वह घाट के पास गांजा बेचता है। पुलिस ने नारा घाट के पास दोपहिया वाहन क्र.-एम.एच.-31-डी.बी.-7605 को रोका। वाहन की तलाशी लेने पर डिक्की में 550 ग्राम गांजा मिला। पूछताछ में वाहन चालक ने अपना नाम पुरुषोत्तम उर्फ गोल्डी पाहुजा बताया। पुलिस ने गोल्डी के खिलाफ मामला दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर लिया। वरिष्ठ अधिकारियों के मार्गदर्शन में कार्रवाई की गई। जरीपटका के वरिष्ठ थानेदार खुशाल तिजारे के नेतृत्व में हवलदार हरिश्चंद्र भट, नायब सिपाही उमेश सांगले, उमेश सांभारे, सिपाही संदीप वानखेड़े, छत्रपाल चौधरी ने कार्रवाई की।

महिला को बंधक बनाकर लूटा
पड़ोस में रहने वाले युवक ने घर में घुसकर पहले महिला को बंधक बनाया और पिटाई कर उससे नकदी और आभूषण लूट लिए। प्रकरण दर्ज कर रविवार की रात आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया। पीड़िता संजय गांधी नगर निवासी  विजया कृष्णराव भेंदरे (67) है। विजया अविवाहित है। वह अकेली रहती है। शनिवार को पड़ोस में रहने वाला जुगनू ज्ञानेश्वर वानखेड़े (28) जबरन विजया के घर में घुस गया। चादर से उसके हाथ पैर बांधे और उसकी पिटाई करने के बाद छह हजार रुपए नकद और कान के आभूषण, इस प्रकार कुल 15 हजार रुपए का माल लूट लिया। घटना के बाद आरोपी जुगनू फरार हो गया था। जुगनू के खिलाफ कई मामले दर्ज हैं। बस्ती के लोग भी उससे त्रस्त हैं। हाल ही में वह जेल से छूटकर आया है। विजया की रिश्तेदार ललिता भेंदरे, न्यू. सूभेदार ले-आउट की शिकायत पर प्रकरण दर्ज किया गया है। जांच जारी है। 

निवेश का झांसा देकर सर्राफा व्यापारी ने की लाखों की ठगी
निवेश करने का झांसा देकर एक युवा सर्राफा व्यापारी ने सेवानिवृत्त व्यक्ति से लाखों रुपए ठग लिए। हुड़केश्वर थाने में व्यापारी के खिलाफ धोखाधड़ी का प्रकरण दर्ज किया गया है। पीड़ित मानेवाड़ा चौक स्थित श्रीनगर निवासी विजय चव्हाण (68) नामक व्यक्ति है। आरोपी आकाश प्रमोद हर्षे (30), अयोध्या नगर निवासी है। आकाश के पिता की दुकान है। विजय और आकाश के पिता मित्र हैं। आकाश ने सेवानिवृत्ति से मिली रकम को निवेश करने का झांसा देकर उनको प्रतिमाह 3 प्रतिशत ब्याज मिलने का लालच दिया था। झांसे में आए विजय ने 37 लाख रुपए आकाश को दिए थे। ब्याज नहीं मिलने पर जब विजय ने अपनी रकम वापस मांगी, तो विजय को 9 लाख 42 हजार रुपए विजय को वापस किए, लेकिन शेष 27 लाख 58 हजार रुपए अभी विजय को मिलना बाकी है। मामला थाने पहुंचने पर प्रकरण दर्ज किया गया है।

कमेंट करें
QhUm8