दैनिक भास्कर हिंदी: कोरोना संकट की स्थिति को देखते हुए अस्पताल में खाली बेड की जानकारी दें

March 25th, 2021

डिजिटल डेस्क, नागपुर। कोरोना संकट की स्थिति को देखते हुए नागपुर विभाग में निजी व सरकारी अस्पतालों में कोविड उपचार के लिए अतिरिक्त बेड की व्यवस्था की जा रही है। इस संदर्भ में नागरिकों तक एकत्रित जानकारी पहुंचाने के निर्देश विभागीय आयुक्त संजीव कुमार ने दिए हैं। अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक में उन्होंने कोविड संक्रमण के रोकथाम की उपाय योजनाअों के बारे में जानकारी ली।  बैठक में मनरेगा आयुक्त शांतनु  गोयल, जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी योगेश कुंभेजकर, महापालिका के  अतिरिक्त आयुक्त जलज शर्मा, स्वास्थ्य उपसंचालक डॉ. संजय जयस्वाल, मेडिकल के डीन डॉ. सुधीर गुप्ता, मेयो के डीन  डॉ. अजय  केवलिया, शालिनीताई मेघे वैद्यकीय महाविद्यालय के डीन  डॉ. दिलीप गोडे सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

5284 मरीज अस्पतालों में भर्ती
नागपुर विभाग में 5284 मरीज सरकारी व निजी अस्पताल में उपचार ले रहे हैं। 3,856 मरीज भर्ती हैं। वर्धा में 342, भंडारा 156, गोंदिया 103, चंद्रपुर 534 व गड़चिरोली जिले में 293 मरीज शामिल हैं। नागपुर शहर व जिले में मरीजों की संख्या अधिक है। मेडिकल अस्पताल में 5945 मरीजों में से 2732 मरीजों ने महात्मा ज्योतिबा फुले आरोग्य योजना के लाभ के लिए आवेदन किया है। मेयो अस्पताल में 1990 मरीजों ने इस योजना के लिए आवेदन किया है। 

ऑक्सीजन की कमी नहीं
मेडिकल अस्पताल में बिना आईसीयू के 1000 बेड व निजी अस्पताल में 2367 बेड उपलब्ध हैं। आईसीयू सहित सरकारी अस्पताल में 380 व निजी अस्पताल में 818 बेड हैं। शालिनीताई मेघे महाविद्यालय व मेडिकल कालेज में अतिरिक्त 90 बेड बढ़ाए जा रहे हैं। निजी अस्पतालों में भी बेड बढ़ाने काे कहा गया है। भिलाई स्टील प्लांट से प्रतिदिन ऑक्सीजन टैंकर उपलब्ध हो रहे हैं। अतिरिक्त दो टैंकर बढ़ाने के संबंध में कंपनी को प्रस्ताव भेजा जाएगा। अकोला, नांदेड के लिए पुणे से ऑक्सीजन आपूर्ति होने के कारण नागपुर विभाग में मांग के अनुरूप ऑक्सीजन उपलब्ध होगी। कोरोना संकट को देखते हुए 80 प्रतिशत ऑक्सीजन स्वास्थ्य सेवा व 20 प्रतिशत ऑक्सीजन उद्योग के लिए इस्तेमाल करने के  निर्देश दिए गए हैं। 
 

खबरें और भी हैं...