आरोप-प्रत्यारोप: साकीनाका दुष्कर्म की घटना के बाद विपक्ष के निशाने पर आई सरकार  

September 11th, 2021

डिजिटल डेस्क,मुंबई।  मुंबई के साकीनाका में महिला से दुष्कर्म और बाद में उसकी हुई मौत की घटना को लेकर विपक्ष ने प्रदेश की महाविकास आघाड़ी सरकार को घेर लिया है। जबकि प्रदेश के गृहमंत्री दिलीप वलसे- पाटील ने कहा है कि सरकार ने पीड़िता को न्याय दिलाने के लिए मामले को फास्ट ट्रैक कोर्ट में चलाने का फैसला किया है। उन्होंने कहा कि इस संबंध में मुंबई पुलिस आयुक्त हेमंत नागराले को निर्देश दिए गए हैं। आरोपियों को सख्त सजा दिलाई जाएगी। शनिवार को विधानसभा में विपक्ष के नेता देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि साकीनाका की घटना मानवता को कंलकित करनी वाली है। यह घटना दिल्ली के निर्भया के मामले को याद दिलाती है।

 फडणवीस ने कहा कि सरकार को फास्ट ट्रैक कोर्ट तैयार करके आरोपियों को फांसी की सजा दिलानी चाहिए। उन्होंने कहा कि सरकार का प्रस्तावित शक्ति कानून के लिए केवल बैठक पर बैठक हो रही है। उन्होंने कहा कि सरकार ने अगर ठान लिया तो मौजूदा कानून के तहत आरोपियों को सख्त सजा दिलाई जा सकती है। फडणवीस ने कहा कि राज्य में नई सरकार बनने के बाद से पुलिस विभाग में सरकार का हस्तक्षेप बढ़ा है। बीते दिनो हुए तबादलों में कई आईपीएस अफसरों को दरकिनार करते हुए नए अफसरों को मौका दिया गया है। इससे आईपीएस अफसरों में नाराजगी है। इसका असर भी पुलिस विभाग के मनोबल पर पड़ता है। जबकि विधान परिषद में विपक्ष के नेता प्रवीण दरेकर ने कहा कि इस घटना के आरोपियों को जल्द कठोर सजा देने के लिए सरकार अगले दो दिनों में जनता के सामने एक्शन प्लान पेश करें।  

केंद्रीय राज्य मंत्री रामदास आठवले ने आरोपियों को छह महीने के भीतर सजा देने की मांग की है। उन्होंने कहा कि पुलिस को आरोपियों के खिलाफ एट्रोसिटी कानून के तहत भी कार्रवाई होनी चाहिए। राज्य सरकार को पीड़िता के परिजनों को दस लाख रुपए की आर्थिक मदद करनी चाहिए। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष चंद्रकांत पाटील ने कहा कि महाविकास आघाड़ी सरकार के गठन के दौरान ही मैंने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से गृह विभाग अपने पास रखने को कहा था। उस समय मेरा मजाक उठाने की कोशिश की गई। लेकिन अब उद्धव को समझ में आया होगा कि केवल सरकार में मुख्यमंत्री पद लेकर कुछ नहीं होता है। सरकार के महत्वपूर्ण सभी विभाग राकांपा और कांग्रेस के मंत्रियों के पास है। दोनों दलों के मंत्रियों की परंपरा ही भ्रष्टाचार करने की है। लेकिन इससे मुख्यमंत्री की छवि खराब हो रही है।  प्रदेश भाजपा उपाध्यक्ष चित्रा वाघ ने कहा कि इस घटना में कई आरोपी शामिल हो सकते हैं। पुलिस को सभी आरोपियों तक पहुंचना चाहिए। वाघ ने कहा कि सरकार अभी तक राज्य महिला आयोग के अध्यक्ष पद पर नियुक्ति नहीं कर सकी है।  

पीड़िता की बेटियों को मदद करेगी सरकार - एकनाथ शिंदे
प्रदेश के नगर विकास मंत्री एकनाथ शिंदे ने कहा कि साकीनाका दुष्कर्म पीड़िता की मौत के बाद हुई है। इसलिए सरकार पीड़िता के दोनों लड़कियों के शिक्षा और सभी जरूरी चीजों के लिए सरकार मदद करेगी।  

आरोपियों को फांसी की सजा होनी चाहिए- संजय राऊत 
शिवसेना सांसद संजय राऊत ने कहा कि साकीनाका की घटना राज्य का सिर झुकाने वाली है। इस घटना के आरोपियों को फांसी की सजा दिलाने के लिए सरकार को मामले को फास्ट ट्रैक पर चलाकर राऊत ने कहा कि विपक्ष को इस दुर्भाग्यपूर्ण घटना पर राजनीति नहीं करना चाहिए। विपक्ष को आरोपियों को सजा दिलाने के लिए सरकार का सहयोग करना चाहिए। दूसरी ओर इस घटना का राष्ट्रीय महिला आयोग ने भी संज्ञान लिया है। पीड़िता के परिवार वालों को मदद का भरोसा दिलाया है।