comScore

प्याज के स्टॉक पर सरकार ने अपने ही आदेश पर चलाई कैंची, नई गाइड लाइन जारी

प्याज के स्टॉक पर सरकार ने अपने ही आदेश पर चलाई कैंची, नई गाइड लाइन जारी

डिजिटल डेस्क, नागपुर। प्याज की आसमान छूती कीमतों पर नियंत्रण के लिए राज्य सरकार ने  नई गाइड लाइन जारी की है। सरकार ने अपने ही पूर्व के आदेश पर कैंची चला दी है। अब थोक व्यापारी 25 मीट्रिक टन और चिल्लर व्यापारी 5 मीट्रिक टन प्याज का ही स्टाक रख सकेंगे।  इसी तरह लाइसेंसी प्याज व्यापारियों का स्टाक नियमित रूप से जांचने के आदेश दिए गए हैं। जिले में कितना प्याज की जरूरत है, इस संबंध में डिमांड पेश करने की सूचना नागरी आपूर्ति विभाग को दी गई है। 

स्टाक से ज्यादा नहीं 
केंद्र सरकार के आदेश पर राज्य सरकार ने चार दिन पूर्व गाइड लाइन जारी कर थोक व्यापारी के लिए 50 व चिल्लर व्यापारी के लिए 10 मीट्रिक टन प्याज का स्टाक रखने की अनुमति दी थी। नागरी आपूर्ति विभाग के अधिकारियों ने प्याज व्यापारियों के यहां दस्तक देकर प्याज का स्टाक चेक किया, लेकिन कहीं भी तय सीमा से ज्यादा प्याज नहीं मिली।  प्याज की लगातार बढ़ती कीमतों से चिंतित राज्य सरकार ने शुक्रवार को नई गाइड लाइन जारी कर दी है। इसके अलावा नागरी आपूर्ति विभाग को प्याज की जरूरत का इस्टिमेट तैयार कर उस संबंध में डिमांड देने को कहा है। 

कलेक्टर ने ली बैठक, जताई चिंता
राज्य सरकार के ताजा दिशा-निर्देशों को देखते हुए जिलाधीश रवींद्र ठाकरे ने शुक्रवार शाम को जिलाधीश कार्यालय में नागरी आपूर्ति विभाग के अधिकारी, किसान प्रतिनिधि, एपीएमसी के प्रतिनिधि व ग्राहक संगठन के प्रतिनिधि के साथ सामूहिक बैठक की। प्याज की बढ़ती कीमतों पर चिंता जताते हुए मांग व आपूर्ति में तालमेल बिठाकर प्याज का वितरण सामान्य बनाने की सूचना दी। बढ़ती कीमतों पर लगाम लगाने के लिए हर मुमकिन कदम उठाने को कहा। तय सीमा से ज्यादा स्टाक रखनेवालों पर सख्त कदम उठाने के चेतावनी दी गई। प्याज की कालाबाजारी करनेवालों की धरपकड़ करने के भी आदेश दिए। 

100 लाइसेंसी प्याज व्यापारियों की सूची तैयार
जिले के 100 लाइसेंसी प्याज व्यापारियों की सूची बनाकर जिलाधीश के सुपूर्द की गई। जिलाधीश ने  नियमित रूप से प्याज व्यापारियों का स्टाक चेक करने के निर्देश अधिकारियों को दिए। प्याज के अवैध संग्रहण पर नजर रखने को कहा। बैठक में जिला आपूर्ति अधिकारी भास्कर तायडे, अन्न-धान्य वितरण अधिकारी अनिल सवई, एपीएमसी के प्रशांत मेरकर, किसानाें के प्रतिनिधि संदीप माटे, ग्राहक पंचायत के प्रशांत पार्थीकर, आपूर्ति निरीक्षक विवेक शिरेकर आदि उपस्थित थे।

दो दिन में सरकार को देंगे डिमांड 
प्याज संग्रहण का कोटा 50 मीट्रिक टन व 10 मीट्रिक टन से क्रमश: 25 व 5 मीट्रिक टन कर दिया गया है। दो दिन में प्याज के डिमांड संबंधी ब्योरा सरकार को भेज दिया जाएगा। 100 लाइसेंसी प्याज व्यापारियों की सूची बनाई गई है।                       -अनिल सवई, अन्न-धान्य वितरण अधिकारी नागपुर
 

कमेंट करें
RGZTc