दैनिक भास्कर हिंदी: बेटियों को 33 प्रतिशत सरकारी नौकरी देगी सरकार- शिवराज

April 20th, 2018

डिजिटल डेस्क सीधी। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि फारेस्ट को छोड़ पुलिस सहित अन्य विभागों में 33 प्रतिशत बेटियों की भर्ती की जायेगी। पंचायत, नगरीय निकाय के चुनावों में 50 प्रतिशत का आरक्षण महिलाओं के लिए रहेगा। महिलायें जनप्रतिनिधि बनेंगी तभी सच्चे अर्थों में महिला सशक्तिकरण होगा। वे टंसार में आयोजित तेंदूपत्ता संग्राहक सम्मेलन व बोनस वितरण कार्यक्रम में बोल रहे थे। मुख्यमंत्री ने अपने संबोधन की शुरूआत बेटियों की सुरक्षा से की।

इस दौरान वे बोले- बेटी है तो कल है। बेटियों के बिना श्रृष्टि नहीं चल सकती है। हम सब बेटियों की इज्जत तो करते हैं पर समाज में कुछ ऐसे भी हैं जो मासूमों के साथ दुराचार करने से पीछे नहीं रहते हैं। मासूमों के साथ कोई भी दुव्र्यवहार करे तो उन्हें सीधे फांसी पर लटका देना चाहिए। सरकार ने इसके लिए विधेयक पारित किया है। उन्होने कहा कि गुण्डे बदमाश सहन नहीं किये जायेंगे दुराचारी, बलात्कारी को मौत की सजा दे देनी चाहिए।

इस दौरान मुख्यमंत्री ने तेंदूपत्ता संग्राहकों को चरण पादुका, साड़ी, पानी की बाटल वितरित कर योजना का शुभारंभ किया है। मुख्यमंत्री ने 1 लाख 44 हजार संग्राहकों को बोनस वितरण का शुभारंभ करते हुये कहा कि तेंदूपत्ता श्रमिक जब जंगल में महुआ फूल बीनने, तेंदूपत्ता तोडऩे जाते हैं तो कई बार उनके पावों में चप्पलें नही रहती हैं। ऐसे में उन्हें तकलीफों से गुजरना पड़ता था इसीलिए संग्राहकों को चरण पादुका दी जा रही है। इस दौरान सांसद श्रीमती रीती पाठक, क्षेत्रीय विधायक कुंवर सिंह टेकाम ने भी कार्यक्रम को संबोधित किया। 

अपने हाथों से श्रमिक को पहनाया पादुका 
तेंदूपत्ता संग्राहकों के सम्मेलन में 62 हजार 917 संग्राहकों को पादुका, पानी की बोतल और साड़ी वितरित की गई है। इस दौरान मुख्यमंत्री ने कार्यक्रम का शुभारंभ करते हुये मंच पर उपस्थित श्रमिक को अपने हाथों से पादुका पहनाया है।इस दौरान वे बोले- बेटी है तो कल है। बेटियों के बिना श्रृष्टि नहीं चल सकती है।