comScore

जीएसटी ने 85 करोड़ का फर्जीवाड़ा पकड़ा, नागपुर के अलावा मालेगांव, अहमदनगर में कार्रवाई

जीएसटी ने 85 करोड़ का फर्जीवाड़ा पकड़ा, नागपुर के अलावा मालेगांव, अहमदनगर में कार्रवाई

डिजिटल डेस्क, नागपुर। वस्तु एवं सेवाकर (जीएसटी) के फेक इनवाइस बनाने वालों का बड़ा खुलासा किया है, नागपुर के साथ ही महाराष्ट्र के अन्य शहरों में छापामार कार्रवाई कर 6 करदाताओं पर 85 करोड़ रुपए के फेक इनवाइस बनाने का फर्जीवाड़ा सामने आया है। मामले का खुलासा वस्तु एवं सेवाकर आसूचना महानिदेशालय (डीजीजीआई) की नागपुर यूनिट की टीम ने कार्रवाई की।

जानकारी के अनुसार फेक इनवाइस बनाने की सूचना मिलने के आधार पर डीजीजीआई की नागपुर यूनिट ने नागपुर के अलावा मालेगांव और अहमदनगर में छापामार कारवाई की। 6 करदाताओं पर हुई इस कार्रवाई में सामने आया कि वह फर्जी चालन बनाकर सरकार को करोड़ों रुपए का फर्जीवाड़ा करने का काम कर रहे थे। इन करदाताओं द्वारा फर्जी तरीके से इनपुट टैक्स क्रेडिट बनाकर सरकार को ठगने का काम किया। तभी मुखबिर की सूचना मिलने पर सभी डीजीजीआई की रडार पर आ गए। इसका खुलासा होने के बाद सामने आया कि इन करदाताओं ने 85 करोड़ का फर्जीवाड़ा कर 7.95 करोड़ रुपए का लाभ उठाया है। इसमें कुछ से 1.43 करोड़ रुपए की वसूली हो चुकी है।

स्क्रैब सहित अन्य सामान का व्यापार
फर्जी चालान बनाने वाले व्यापारियों बड़े पैमाने पर फर्जीवाड़ा चला रहे थे, जिस दुकान और परिसर की उनके द्वारा जानकारी दी गई थी असल में वह वहां थी ही नहीं। इतना ही नहीं इसके अलावा भी मोबाइल नंबर सहित अन्य जानकारी फर्जी दी गई थी। इनके द्वारा तांबे के स्क्रैब, लौहे का स्क्रैब, स्पंज आइरन, एमएस बिलेट्स, एमएस प्लॉट्स आदि सामान के व्यापार के नाम पर करोड़ों रुपए की धोखाधड़ी की गई।

3 लोग मामले में फरार
जानकारी के अनुसार क्रेडिट इनपुट टैक्स का लाभ लेकर फर्जीवाड़ा करने वाले 3 लोग मामले में फरार चल रहे है जिसको लेकर डीजीजीआई की टीम उनके पीछे लगी हुई है। कुछ जगह पकड़ने के लिए दबिश देने की योजनाएं बनाई जा रही है। मामले को लेकर नाम अब तक इसीलिए उजागर नहीं किए जा रहे हैं।

कमेंट करें
g7lIF