दैनिक भास्कर हिंदी: बंद जुए के अड्डे पर छापा मारने पहुंचे पालकमंत्री बावनकुले, हाथ लगी शराब की खाली बोतलें

November 22nd, 2018

डिजिटल डेस्क, नागपुर। पालकमंत्री चंद्रशेखर बावनकुले ने जुआ अड्डा चलने की शिकायत मिलने के बाद बुधवार को कोराड़ी के जयभीमनगर में एक मकान पर छापा मारा। इस दौरान शराब की खाली बोतलें और जुआ खेलने की सामग्री जब्त की गई । छापे के बाद पहुंचे महादुला नगर पंचायत की टीम ने अतिक्रमण कर बनाए गए इस मकान काेे गिरा दिया। महावितरन ने यहां की बिजली काट दी। कोराड़ी पुलिस ने संतोष शाहू पर जुए व शराब का साहित्य रखने के आरोप में पुलिस की धारा 4 के तहत कार्रवाई की। वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों ने घटनास्थल का दौरा किया।

दरअसल विकास कार्यों के भूमिपूजन का काम चल रहा था। इसी दौरान पालकमंत्री बावनकुले को जुआ अड्डे चलने की शिकायत मिली। पालकमंत्री ने छापा मारकर शराब की खाली बोतले, जुए की सामग्री देखी, जिसे पुलिस ने जब्त कर लिया। अतिक्रमण कर बनाए गए मकान में जुआ खेलने के लिए इस्तेमाल होनेवाले टोकन, गद्दियां मिली। यहां भोजन की व्यवस्था भी होती थी। मां सरस्वती क्रीडा मंडल द्वारा संचालित हैप्पी क्रीडा व मनोरंजन केंद्र का बोर्ड भी लगा था। छापा मारने की सूचना मिलते ही अधिकारी घटनास्थल पहुंचे। पुलिस ने संतोष शाहू को शराब व जुए का साहित्य रखने के आरोप में गिरफ्तार किया। शराब नहीं मिलने से आबकारी विभाग खाली हाथ लौटा।

परिसर में दहशत 

अवैध धंदे की शिकायत करने पर मारने की धमकी देने का दर्द परिसर के लोगों ने बयान किया। पालकमंत्री ने परिसर के लोगों को सुरक्षा देकर धमकाने व अवैध धंदेवालों पर सख्त कार्रवाई करने के आदेश पुलिस निरीक्षक गणेश ठाकरे को दिये। परिसर के अवैध बिजली कनेक्शन काटने के भी निर्देश दिए गए।

2011 के पहले के अतिक्रमण नियमित होंगे

2011 के पहले के अतिक्रमण नियमित किए जाएंगे। पालकमंत्री ने कहा कि 2011 के पहले सरकारी रिकार्ड में जिनका नाम दर्ज है, उन्हें वहीं पर नियमित किया जाएगा। 2011 के बाद से रहनेवालों को भुखंड न देते हुए सामूहिक रूप से एक जगह आवास-निवास देने के आदेश नगर पंचायत को दिए।

संतोष ने जरीपटका के बोरकर को दी थी जगह 

पालकमंत्री ने जिस मकान पर छापा मारा, वह जगह संतोष शाहू ने जरीपटका के बोरकर नामक व्यक्ति को किराए पर दी थी। बोरकर पांचपावली थाने की हद में जुआ अड्डा चलाता था। जुआ अड्डा बंद होने के बाद जुए की सामग्री यहां लाई गई थी। कोराडी के पुलिस निरीक्षक गणेश ठाकरे ने बताया कि संतोष ने यह मकान जरीपटका के बोरकर को किराए से दिया था। संतोष शाहू पर अवैध शराब बिक्री के मामले में 7-8 बार छापामार कार्रवाई कर शराब प्रतिबंधक कानून के तहत कार्रवाई की गई थी।

यहां कभी जुआ शुरू नहीं हुआ

कोराडी के थानेदार गणेश ठाकरे ने दावा किया कि यहां कभी जुआ अड्डा शुरू नहीं हुआ। पुलिस के छापे में हर बार शराब मिली। आज के छापे में शराब नहीं मिली। केवल खाली बोतले व जुए की सामग्री मिली। शराब नहीं मिलने, जुआरी नहीं मिलने व जुआ शुरू नहीं होने से शराब बंदी या जुआ बंदी कानून के तहत कार्रवाई नहीं की जा सकी। पांचपावली से जुआ बंद होने के बाद यह सामग्री यहां लाई गई थी। छापे के बाद नगर पंचायत ने यहां से अतिक्रमण हटाया।

   
 

खबरें और भी हैं...