दैनिक भास्कर हिंदी: हरियाणा : अब रेप का आरोप लगने पर ही छीन ली जाएगी सभी सरकारी सुविधाएं

July 13th, 2018

हाईलाइट

  • हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहरलाल खट्टर ने गुरुवार को बेटियों की सुरक्षा के लिए कीए कुछ अहम फैसलें।
  • रेप और मोलेस्टेशन के आरोपियों को अब किसी भी तरह की सरकारी सुविधाएं नहीं दी जाएंगी।
  • आरोपी के ड्राइविंग और आर्म्स लाइसेंस भी जब्त कर लिए जाएंगे।

डिजिटल डेस्क, चंडीगढ़। हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहरलाल खट्टर ने गुरुवार को बेटियों की सुरक्षा के लिए कुछ महत्वपूर्ण फैसलों का ऐलान किया है। CM ने कहा है कि रेप और मोलेस्टेशन के आरोपियों को अब किसी भी तरह की सरकारी सुविधाएं नहीं दी जाएंगी। उन्होंने कहा है कि आरोपी के ड्राइविंग और आर्म्स लाइसेंस भी जब्त कर लिए जाएंगे। सीएम खट्टर ने यह बातें इंद्रधनुष ऑडिटोरियम, पंचकुला में चल रहे एक वुमन वेलफेयर प्रोग्राम में कही।

मनोहर खट्टर ने कहा कि रेप या इससे जुड़े किसी भी क्राइम की चार्जशीट दायर होने पर आरोपी से फूड सप्लाई को छोड़कर हर तरह की फैसिलिटी विथड्रॉ कर ली जाएगी। आरोपी के खिलाफ आरोप साबित होने पर फेसिलिटीज परमानेंटली हटा दी जाएगी। वहीं आरोप न साबित होने पर उसे कोर्ट कम्पन्सेट करेगी।

 


इस दौरान खट्टर ने रेप केसों पर जल्द कार्रवाई करने का भी ऐलान किया। उन्होंने इन्वेस्टीगेटिंग ऑफिसर्स द्वारा केस फाइल होने के 15 दिनों के भीतर  रिपोर्ट पेश करने की बात कही है। ऐसा नहीं करने पर ऑफिसर्स पर एक्शन लिया जाएगा।

खट्टर ने रेप के मामलों में जल्द सुनवाई के लिए 6 फास्ट ट्रैक कोर्ट्स भी सेट-अप करने की बात कही। ये फास्ट ट्रैक कोर्ट्स गुरुग्राम, सोनीपत, नुह, पलवल और फरीदाबाद में खोले जाएंगे। इसके साथ ही खट्टर ने पीड़िताओं को दूसरा वकील हायर करने के लिए 20 हजार रुपए की मदद देने का भी ऐलान किया है।

प्रोग्राम में CM खट्टर ने महिलाओं की सुरक्षा के लिए एक एप भी लांच किया। इस एप के जरिए कोई भी महिला ऐसी किसी भी घटना की जानकारी तुरंत दे सकेगी और इस पर तुरंत एक्शन लिया जाएगा। मुख्यमंत्री ने साथ ही वुमन सेफटी के लिए एक PCR भी फ्लैग ऑफ किया। इस PCR का नाम 'दुर्गा शक्ति' रखा गया है।