दैनिक भास्कर हिंदी: हाथरस गैंगरेप केस: राहुल-प्रियंका ने पीड़ित परिवार से बंद कमरे की बातचीत, राहुल बोले- डीएम पर भी कार्रवाई चाहता है परिवार

October 4th, 2020

डिजिटल डेस्क, हाथरस। उत्तरप्रदेश के हाथरस में कथित सामूहिक दुष्कर्म की दिवंगत पीड़िता के घर शनिवार को कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और प्रियंका वाड्रा ने पहुंचकर उसके परिवार से मुलाकात की। राहुल और प्रियंका गांधी ने बंद कमरे में पीड़िता के परिवार से मुलाकात की। इस दौरान प्रियंका गांधी ने पीड़िता की मां को गले लगाया और सांत्वना दी। कांग्रेस के दोनों दिग्गज नेतओं ने करीब एक घंटे तक पीड़िता के परिवार से बातचीत की। राहुल ने कहा कि पीड़िता का परिवार न्यायिक जांच के साथ सुरक्षा और डीएम पर कार्रवाई चाहता है।

पीड़िता के परिजनों से मुलाकात के बाद राहुल गांधी ने पत्रकारों से कहा कि पीड़िता के परिवार की आवाज दुनिया की कोई भी ताकत दबा नहीं सकती। जहां-जहां अन्याय होगा, हम जाएंगे, हमें जाने से कोई भी सरकार नहीं रोक सकती। परिवार न्यायिक जांच के साथ सुरक्षा और डीएम पर कार्रवाई चाहता है। जब तक पीड़ित परिवार को न्याय नहीं मिल जाता, हम अन्याय के खिलाफ लड़ते रहेंगे, बेटी के साथ गलत बर्ताव हुआ, परिवार के साथ लगातार खड़ा रहूंगा। पीड़ित परिवार की रक्षा करना यूपी सरकार की जिम्मेदारी है।

जहां-जहां अन्याय होगा, हम उसके खिलाफ लड़ेंगे
परिवार से मुलाकात के बाद प्रियंका गांधी ने कहा जहां-जहां अन्याय होगा, हम उसके खिलाफ लड़ेंगे। पीड़िता का परिवार बच्ची का चेहरा तक नहीं देख पाया, यह बहुत दुखद है। यह अन्याय है। परिवार की कुछ मांगें हैं। परिजन ने डीएम को हटाने और न्यायिक जांच की मांग की है। इसके अलावा उन्होंने सुरक्षा की मांग की है। परिवार से मुलाकात के बाद राहुल-प्रियंका हाथरस से दिल्ली के लिए रवाना हो गए। दोनों के साथ आए लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि पीड़ित परिवार ने सुरक्षा की मांग की है। वह लोग बहुत डरे हुए हैं।

प्रियंका ने पीड़िता की मां को गले लगाया
राहुल गांधी और प्रियंका दोनों ने मृतका के परिवार से उनके घर के अंदर जाकर बातचीत की। इस दौरान प्रियंका ने पीड़िता की मां को गले लगाकर ढाढस बढ़ाया। राहुल और प्रियंका से मिलकर पीड़िता का परिवार काफी भावुक हुआ और पूरे घटनाक्रम को सिलसिलेवार तरीके से दोनों को बताया। दोनों ने पीड़िता के परिवार के साथ बंद कमरे में बातचीत की। बातचीत करीब एक घंटे तक चली। प्रियंका ने न्याय की लड़ाई में साथ देने का वादा किया है। आसपास के सभी घरों की छतों पर बड़ी संख्या में लोग मौजूद रहे। सुरक्षा और मीडियाकर्मियों की भारी मौजूदगी ने काफी दिक्कत बढ़ाई है। अंधेरे में डूबे गांव को वाहनों और टॉर्च की रोशनी का सहारा मिला।

मुलाकात के बाद पीड़िता के भाई ने क्या कहा
पीड़िता के भाई ने कहा कि प्रियंका गांधी और राहुल गांधी की ओर से आर्थिक सहायता का एक चेक दिया गया है। हमें जो भी पैसा देगा वो मंजूर है। सीएम योगी ने भी जो दिया वो हमारे अकाउंट में है। कभी जरूरत पड़ेगी तो हम उसका इस्तेमाल कर सकेंगे। पीड़िता के भाई आगे कहते हैं कि प्रियंका और राहुल गांधी ने हमें सुना और समझा। हम लोगों के साथ जो कुछ भी हुआ हमने उनको बताया। उन्होंने हमें आश्वासन दिया कि कोई भी मदद चाहिए हो तो बताना।

5 लोगों को मिली थी जाने की अनुमति
राहुल और प्रियंका गांधी समेत 5 लोगों को हाथरस जाने की अनुमति मिली। यूपी सरकार ने उन्हें इजाजत दी। प्रशासन ने राहुल गांधी और प्रियंका गांधी को हाथरस जाने और पीड़िता के परिवार से मिलने की अनुमति कुछ शर्तों पर दी। बता दें कि हाथरस कांड को लेकर सियासत उफान पर है। दिल्ली से हाथरस जाने के लिए राहुल गांधी पूरे लाव-लश्कर के साथ निकले। राहुल की कार खुद बहन प्रियंका गांधी चला रही थीं। प्रशासन ने राहुल गांधी और प्रियंका गांधी को हाथरस जाने और पीड़िता के परिवार से मिलने की अनुमति कुछ शर्तों पर दी, जिनमें मास्क लगाना और कोरोना से जुड़े अन्य प्रोटोकॉल का पालन करना शामिल है।

 

खबरें और भी हैं...