comScore

केरल में बाढ़ से हालात बदतर, 94 की मौत, पूरे राज्य में रेड अलर्ट

August 16th, 2018 21:07 IST

हाईलाइट

  • लैंडस्लाइड और बाढ़ से मरने वालों की संख्या 47 तक पहुंच चुकी है।
  • रनवे पर पानी भरने के बाद एयरपोर्ट अथॉरिटी ने फ्लाइट सेवा बंद करने का निर्णय लिया।
  • यहां इडुक्की डैम के दो गेट दो मीटर की ऊंचाई तक खोले गए हैं।

डिजिटल डेस्क, तिरुअनंतपुरम। बीते कई दिनों से जारी भारी बारिश के कारण केरल में आम जन-जीवन अस्त-व्यस्त हो चुका है। बाढ़ और भूस्खलन से अब तक 94 लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं 11 लोग अभी भी लापता है। भारी बारिश के चलते 41 लोग घायल भी हुए हैं। बताया जा रहा है कि करीब 1,65,538 लोग 1155 रिलीफ कैम्प्स में मौजूद हैं। वहीं 2857 घर इस बाढ़ के चलते क्षतिग्रस्त हुए हैं। पिछले कुछ दिनों से जारी इस भयंकर बारिश के चलते राज्यभर में 3393 हेक्टेयर फसलें भी बर्बाद हुई है।


बता दें कि शनिवार तक एयतियातन कोच्चि एयरपोर्ट को भी बंद कर दिया गया है। बारिश के कारण रन-वे पर काफी पानी भर गया था। मौसम विभाग की चेतावनी के बाद राज्य के 39 में से 35 डैम के गेट खोल दिए गए है। बुधवार सुबह मौसम विभाग ने पूरे राज्य में भारी बारिश के चेतावनी दी है। केरल के इडुक्की डेम में पानी का लेवल 2398.90 फीट हो गया था, जिसके बाद हर सेकंड 10 लाख लीटर पानी डैम से छोड़ा जा रहा है। 

इडुक्की डैम के दो गेट दो मीटर की ऊंचाई तक खोले गए हैं। तीन गेटों को 2.3 मीटर तक खोलना पड़ा। डैम के नजदीक जेरुथोनी शहर से लोगों को दूसरी जगह शिफ्ट किया जा रहा है। कोल्लम शेनकोट्टा रूट और त्रिवेंदम नगरकोइल रूट पर ट्रेनें बंद कर दी गई हैं। त्रिवेंद्रम में कई जगह पर पानी भर गया है। केरल में आई प्राकृतिक आपदा में बचाव के लिए बुलाई गई भारतीय सेना ने पेड़ो की सहायता से 35 फीट लंबा पुल बनाया है। ताकि लोगों को इससे मदद मिले सके। सेना की ओर से लगाताार राहत बचाव का काम जारी है। सेना पुल बनाने के बाद लगभग 100 लोगों का रेस्क्यू किया है। जिनमें बच्चें और महिलाएं भी शामिल है।

कमेंट करें
z6ilP