राहत: छत्तीसगढ़ की ओर रवाना हुआ जंगली हाथियों का झुंड 

March 16th, 2022

डिजिटल डेस्क,  गड़चिरोली।  पिछले पांच महीनों से गड़चिरोली जिले के विभिन्न स्थानों पर उधम मचाने वाले जंगली हाथियों का झुंड सोमवार को छत्तीसगढ़ राज्य के मानपुर तहसील के मोहला क्षेत्र जंगल में पाया गया। हाथियों का यह झुंड अब लौट जाने के कारण हाथी बाधित गांवों के नागरिकों ने चैन की सांस ली है। यहां बता दें कि, अक्टूबर माह में ओड़िसा राज्य से निकले जंगली हाथियों का झुंड छत्तीसगढ़ होते हुए गड़चिरोली जिले के धानोरा क्षेत्र में दाखिल हुआ था। मुरूमगांव वन परिक्षेत्र के तहत आने वाले दर्जनों गांवों में हाथियों ने इस झुंड ने धान की फसलों को तबाह करने के साथ साथ पक्के मकानों को ध्वस्त किया था। इस तहसील के बाद हाथियों के झुंड ने कोरची, कुरखेड़ा, आरमोरी और देसाईगंज तहसील में भी प्रवेश किया था। यहां पर भी हाथियों ने धान की फसलों को तबाह करने का  कार्य किया। इस कालावधि में हाथियों ने किसानों का लाखों रूपयों का नुकसान किया। पांच महिनों से गड़चिरोली वनविभाग के साथ देसाईगंज वनविभाग की नींद भी इन हाथियों ने उड़ा दी थी। हाथियों पर अपनी पैनी नजर रखने के लिए वनविभाग ने ड्रोन कैमरे के साथ नाईट विजन कैमरों की व्यवस्था भी कर रखी थी। जंगली हाथी काफी आक्रमक होने के कारण उन्हें भगाया नहीं जा सकता। इस कारण वनविभाग के कर्मचारियों द्वारा अब तक इस झुंड पर अपनी नजर रखी जा रहीं थी। सोमवार को इन्हीं हाथियों के झुंड का लोकेशन छत्तीसगढ़ राज्य के मोहला वनक्षेत्र में पाया गया है। जिसके कारण वनविभाग समेत हाथी बाधित गांवों के नागरिकों ने भी चैन की सांस ली है।