दैनिक भास्कर हिंदी: हाईकोर्ट पहुंचा पंजीकरण वालों को कोरोना टीके का मामला 

May 15th, 2021

डिजिटल डेस्क, मुंबई।  कोरोना टीकाकरण केंद्रों के लिए दिशा निर्देश जारी किए जाने की मांग को लेकर बॉम्बे हाईकोर्ट में जनहित याचिका दायर की गई है। याचिका में दावा किया गया है कि जिन लोगों को टीके के लिए कोविन पोर्टल से समय दिया जाता है वे टीके से वंचित रह जाते हैं। जबकि जो बिना पंजीयन के सीधे टीकाकरण केंद्र पहुचते हैं, उन्हें टीका लग जाता है। इसलिए टीकाकरण केन्द्रों को निर्देश दिया जाए कि पहले उन्हें टीका लगाया जाए जिन्हें पंजीयन के बाद समय दिया गया है।  याचिका में आग्रह किया गया है जिस टीका केंद्र में टीका उपलब्ध हो वहीं पर लोगों को भेजा जाए। क्योंकि लोग टीके के लिए केंद्र पर पहुंचते है तो उन्हें टीका न होने की जानकारी दी जाती है। इससे लोगों को काफी परेशानी हो रही हैं। इसके अलावा बुजुर्गों के लिए व्हीलचेयर फ़्रेंडली टीकाकरण केंद्र बनाए जाए।टीकाकरण केंद्रों पर नजर रखने के लिए एक निगरानी कमेटी भी गठित की जाए। क्योंकि टीके का पहला डोज लेने के बाद लोगों को तय समय पर दूसरा डोज नहीं मिल रहा है। 

पेशे से शिक्षक योगिता वंजारा की ओर से दायर की गई याचिका में कोविन पोर्टल पर टीके के लिए पंजीयन में आनेवाली दिक्कतों व परेशानी को भी उजागर किया गया है। याचिका में कहा गया है कि पोर्टल पर पंजीयन करनेवालों की संख्या इतनी ज्यादा है कि लोगों को पासवर्ड पाने के लंबा वक़्त चला जाता है।  याचिका के मुताबिक कोविन पोर्टल पर 45 से ऊपर की उम्र वाले लोग पंजीयन करते हैं और यही पर 18 से 44 आयु वर्ग के लोग भी पंजीयन कराते हैं। इसलिए पोर्टल में पंजीयन का दबाव कम करने के लिए ठोस कदम उठाने के लिए निर्देश दिया जाए। इसके अलावा टीके के बुकिंग स्लॉट की व्यवस्था में भी सुधार किया जाए। याचिका में मुंबई में टीके के पंजीयन के लिए अलग पोर्टल बनाने का निर्देश देने का निवेदन किया गया है। याचिका पर 19 मई 2021 को सुनवाई हो सकती है।  

खबरें और भी हैं...