दैनिक भास्कर हिंदी: आतंक : दबंगों ने जलाया गरीब का आशियाना , आरोपी पिता-पुत्र फरार

May 8th, 2018

डेमो फोटो
डिजिटल डेस्क  छतरपुर/ सरवई । चंदला के बछौन गांव में दबंगों ने एक गरीब परिवार के ऊपर ऐसा कहर बरपाया की गरीब को बेघर कर दिया। दबंगों ने गरीब के  साथ न केवल मारपीट की, बल्कि उसके घर को दिनदहाड़े आग के हवाले कर दिया। गरीब और उसका परिवार दबंगों के हाथ-पैर जोड़कर मिन्नते मांगता रहा, लेकिन उन्होंने गरीब परिवार की एक न सुनी और मकान को आग के हवाले कर दिया। दरअसल बछौन निवासी राम प्रसाद पिता हुलाशी कुशवाहा गांव में पत्थर तोडऩे का काम करता है। अपनी जमीन पर पत्थर तोड़ कर अपना और अपने परिवार का पालन-पोषण करता था, लेकिन गांव के कुछ दबंग नहीं चाहते थे कि वह जमीन से पत्थर तोडऩे का काम करे। इसी को लेकर गांव के दबंगों ने उसके घर धावा बोला और बगैर कुछ सोचे समझे पीडि़त के कच्चे मकान को आग के हवाले कर दिया।

गृहस्थी का सामान जल कर खाक
 इस घटना में गरीब परिवार के गृहस्थी का पूरा सामान जलकर नष्ट हो गया। बताया जा रहा है कि पीडि़त राम प्रसाद की माने तो घर में आग लगने से घर में रखा तीन क्विंटल अनाज जिसमें चना, गेहंू, शामिल है। अनाज के अलावा घर में पाली गई करीब दो सौ मुर्गियां और घर में रखे करीब 20 हजार रुपये नकद जल कर खाक हो गए। घर को आग के हवाले किए जाने से अब गरीब के पास रहने और खाने के लिए कुछ नहीं बचा है।

गांव में दहशत
बछौन गांव में दिनदहाड़े हुई इस घटना के बाद से गांव के लोग खौफजदा है। गरीब के आशियाने का आग के हवाले करने के बाद आरोपी भले ही गांव से फरार हो गए हो गए, लेकिन उनका गांव में इतना खौफ है कि लोग उनके खिलाफ कुछ भी कहने और बोलने से डर रहे हैं। बताया जा रहा है कि दबंगों ने पूर्व में भी पीडि़त परिवार के साथ मारपीट की थी, लेकिन पुलिस में शिकायत दर्ज कराए जाने के बाद भी दबंगों के खिलाफ कार्रवाई नहीं हुई।

पुलिस ने दर्ज  किया मामला
गरीब परिवार के घर को आग के हवाले करने वालों के खिलाफ बछौन पुलिस चौकी ने आरोपी भग्गी शुक्ला, चिंदा शुक्ला निवासी बछौन के  खिलाफ धारा 294,323, 436, 427, 34 आईपीसी के  तहत मामला दर्ज कर लिया है। थाना प्रभारी जसवंत सिंह का कहना है कि घटना को अंजाम देने के बाद से आरोपी पिता-पुत्र मौके से फरार हो गए, पुलिस आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए उनके घर और रिश्तेदारों के यहां पुलिस टीम भेज रही है।

कोई नहीं आया मदद को
 जिस समय गांव के दबंग गरीब के आशियाने को आग के हवाले कर रहे थे। उस समय गरीब और उसका पूरा परिवार दबंगों के हाथ-पैर जोड़ता रहम की भीख मांगता रहा, लेकिन दबंगों ने उसकी एक न सुनी। दबंगों ने जब पीडि़त परिवार की नहीं सुनी तो वह गांव के लोगों से मदद की गुहार लगाता रहा, लेकिन दबंगों के खौफ के चलते गांव के लोग भी पीडि़त परिवार की मदद के लिए आगे नहीं आए और देखते ही देखते राम प्रसाद की आंखों के समाने उसका घर जल कर खाक हो गया।