दैनिक भास्कर हिंदी:  ‘पार्टी में मेरी कोई सुन नहीं रहा, मैं खुद इस्तीफे की सोच रहा’-अशोक चव्हाण

March 23rd, 2019

डिजिटल डेस्क, मुंबई। प्रदेश कांग्रेस का अंदरुनी कलह एक बार फिर सामने आ रहा है। इससे खुद प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अशोक चव्हाण भी परेशान हैं। चंद्रपुर से विनायक बांगडे को कांग्रेस उम्मीदवार बनाए जाने को लेकर चव्हाण की नाराजगी सामने आई है। सोशल मीडिया पर वायरल एक ओडियो क्लिप में चव्हाण यह कहते सुनाई दे रहे हैं कि पार्टी में मेरी कोई सुन नहीं रहा है। मैं खुद इस्तीफा देने की सोच रहा हूं।

आडियो क्लिप में चंद्रपुर का एक कांग्रेस कार्यकर्ता प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष चव्हाण को मोबाइल पर फोन कर बांगडे को उम्मीदवार बनाए जाने पर नाराजगी जता रहा है। इस पर चव्हाण कह रहे हैं। शनिवार को महागठबंधन के प्रेस कांफ्रेंस के दौरान इस संबंध में पूछे जाने पर चव्हाण ने कहा कि पार्टी का प्रदेश अध्यक्ष होने के नाते अपने कार्यकर्ता का मनोबल बनाए रखना मेरी जिम्मेदारी है। उन्होंने कहा कि वायरल क्लिप में क्या हैं, अभी मैंने सुना नहीं है। चव्हाण ने कहा कि आखिर निजता भी कुछ चीज होती है। वह दो लोगों की निजी बातचीत है। किसी तरह की निजी बातचीत को सार्वजनिक करना गलत है। 

क्यों नाराज हैं चव्हाण
कथित ऑडियो क्लिप में पूर्व मुख्यमंत्री अशोक चव्हाण बातचीत के लहजे से ऐसा लगता है कि महाराष्ट्र कांग्रेस में सबकुछ ठीक नहीं है। उनकी नाराजगी की कई वजह हो सकती हैं। चव्हाण चाहते थे कि औरंगाबाद से पूर्वमंत्री अब्दुल सत्तार और नांदेड़ से उनकी पत्नी अमृता चव्हाण को टिकट मिले लेकिन, पार्टी ने औरंगाबाद से सत्तार की जगह सुभाष झांबड़ को उम्मीदवारी दी है। पार्टी नांदेड़ से उनकी पत्नी अमिता की बजाय फिर से चव्हाण को ही उम्मीदवार बनाना चाहती है। जबकि चव्हाण अब राज्य की राजनीति में सक्रिय होना चाहते हैं।

अशोक चव्हाण की पूर्व मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चव्हाण से भी नहीं जम रही है। कभी कांग्रेस का गढ़ रहे सांगली में पूर्व मुख्यमंत्री बसंतदादा पाटील घराने के प्रतीक पाटील और विश्वजीत कदम के बीच अंदरूनी गुटबाजी चरम पर है। विधानसभा में विपक्ष के नेता राधाकृष्ण विखे पाटिल के सुपुत्र सुजय विखे पाटील के भाजपा में शामिल होने से भी पार्टी को झटका लगा है। 

खबरें और भी हैं...