दैनिक भास्कर हिंदी: नागपुर में शुरू हुआ मीटर रीडिंग , सहयोग नहीं किया तो मिलेगा एवरेज बिल

June 20th, 2020

डिजिटल डेस्क, नागपुर।  महावितरण की तरफ से दो महीने बाद मीटर रीडिंग का काम शुरू हो गया है। मीटर रीडिंग में सहयोग नहीं करने वाले विद्युत उपभोक्ता को एवरेज बिल मिलेगा और इसके लिए उपभोक्ता ही जिम्मेदार रहेगा। प्रतिबंधित क्षेत्र छोड़कर आैर स्थानीय प्रशासन ने जिन इलाकों में मीटर रीडिंग की अनुमति दी है, वहीं पर मीटर रीडिंग का काम होगा।  कोरोना संक्रमण के कारण मार्च के बाद से मीटर रीडिंग का काम नहीं हो सका है। लॉकडाउन के दौरान लोगों के घर जाकर मीटर रीडिंग करने पर ऊर्जा विभाग ने पाबंदी लगाई थी। इस कारण उपभोक्ताओं को अप्रैल, मई  महीने का बिजली बिल नहीं मिला। महावितरण ने अब रीडिंग लेना शुरू किया है आैर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए यह कार्य किया जा रहा है। 

उसे महीने में बांटकर उस हिसाब से उसके दर (स्लैब रेट) तय होंगे। पहले 100 मीटर तक जो दर तय है, उसी दर से बिल वसूला जाएगा। सभी उपभोक्ताओं को सही बिल मिल सके, इसलिए रीडिंग जरूरी है।   रीडिंग में केवल 8-10 सेकंड का समय लगता है।

कर्मचारी को करना होगा नियम का पालन
महावितरण ने स्पष्ट किया कि कर्मचारी मास्क व हैंड ग्लब्स पहनकर रहेंगे। हाथ सैनिटाइज करेंगे आैर तय डिस्टेंस रखकर काम करेंगे। अपार्टमेंट में मीटर फ्लैट के बाहर ही होते हैं। इसलिए किसी को असहयोग करने का कारण नहीं। अगर कर्मचारी को सहयोग नहीं किया तो संबंधित उपभोक्ताआें को एवरेज बिल भेजा जाएगा। एक साथ बिल मिलने पर घबराने की जरूरत नहीं।