कोरोना पर सख्ती: बढ़ते संक्रमण को देखते हुए मध्य प्रदेश में नियम तोड़ने वालों को होगी 'जेल'!

January 6th, 2022

हाईलाइट

  • प्रदेश में बीते 24 घंटो में कोविड-19 के 1,033 नए मामले आए है।

 डिजिटल डेस्क, भोपाल।  मध्य प्रदेश में कोरोना संक्रमण के मामलों में तेजी से उछाल देखने के मिल रहा है। बढ़ते संक्रमण को देखते हुए मध्य प्रदेश के गृह मंत्री ने सख्त चेतावनी जारी की है। गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा है कि आवश्यकता पड़ने पर हम प्रदेश में खुली जेल स्थापित  कर सकते है। अगर ऐसा होता है तो तीसरी लहर की संभावना को देखते हुए मध्य प्रदेश, देश में पहला राज्य होगा जहां पर खुली जेल स्थापित की जाएंगी। 

मंत्री ने कहा कोरोना वायरस मामलों की संख्या बढ़ने के बावजूद लॉकडाउन या बाजार बंद करने का अभी कोई प्रस्ताव नहीं है। लेकिन इस दौरान कोविड प्रोटोकॉल का उल्लंघन करने वालों को उन्होंने सख्त चेतावनी दी है।

मंत्री ने सख्त लहजे में जुर्माना और खुली जेल की बात भी कह दी। गृह मंत्री ने कहा की प्रदेश सरकार जो लोग बाजार बिना मास्क के ही जाते है। उनके लिए सख्त कदम उठाने जुर्माने की राशि बढ़ाने की योजना पर काम कर रही है। 

गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने भोपाल में मीडियाकर्मियों से बात करते हुए  कहा, "मध्य प्रदेश में लॉकडाउन या बाजार बंद करने को लेकर  गृह विभाग के पास अभी कोई प्रस्ताव नहीं है। हम फेस मास्क नहीं पहनने वालों पर  जुर्माना राशि अधिक करने की योजना बना रहे हैं और खुली जेल स्थापित करने को लेकर भी विचार कर रहे हैं।" 

प्रदेश के गृह मंत्री की यह टिप्पणी ऐसे समय में आई है। जब प्रदेश में बीते 24 घंटो में कोविड-19  के 1,033 नए मामले आए हैं। कोरोना संक्रमण के सबसे ज्यादा मामले प्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर और राजधानी भोपाल में आ रहे हैं।

रोको-टोको के तहत भी लगेगा जुर्माना 

आपको बता दें कि मध्य प्रदेश में चल रहा रोको टोको कार्यक्रम के तहत सार्वजनिक स्थानों पर कोविड प्रोटोकॉल का पालन न करने वालों पर वर्तमान में  200  रुपये का जुर्माना लगाने का प्रावधान है। 

 साथ ही प्रदेश के चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने गुरूवार को समाचार एजेंसी एएनआई से कहा "यह 24 घंटे पहले दर्ज की गई संख्या से लगभग दोगुना है जो हमारे लिए चिंता का विषय है। लेकिन इससे हमें घबराना नहीं चाहिए। सभी को कोविड-उपयुक्त व्यवहार का पालन करना चाहिए।" 

उन्होंने कहा, "दैनिक संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। कल हमने कुछ और भी प्रतिबंध लगाए, जिसमें शादी समारोहों में 250 लोगों की सीमित संख्या के साथ ही केवल 50 लोगों को अंतिम संस्कार के कार्यक्रम में शामिल होने की अनुमति है। मैंने अधिकारियों को अस्पतालों में बिस्तर बढ़ाने को लेकर निर्देश दिया है।"

आपको बता दें बुधवार को प्रदेश में कोरोना  के 594 नए मामले दर्ज किए गए। वहीं मंगलवार को मरीजों की संख्या 308 थी। एक सरकारी विज्ञप्ति में बताया गया है कि मध्यप्रदेश में अब तक 10,46,75,955  कोरोना  वैक्सीन की लगाई जा चुकी है।

 

खबरें और भी हैं...