comScore

लॉकडाउन में ऑनलाइन पाठ्यक्रमों की बढ़ी मांग

लॉकडाउन में ऑनलाइन पाठ्यक्रमों की बढ़ी मांग

डिजिटल डेस्क,नागपुर। लाॅकडाउन का उच्च शिक्षा क्षेत्र पर काफी असर पड़ा है। पढ़ाई बाधित न हो इसके लिए विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) ने ऑनलाइन पढ़ाई पर जोर दिया है। इसके तहत विश्वविद्यालयों को ऑनलाइन पढ़ाई से लेकर सर्टिफिकेट और डिग्री पाठ्यक्रम शुरू करने को प्रोत्साहित किया गया है, लेकिन देश में ऑनलाइन डिग्री कोर्स को लेकर ठोस गाइड लाइन नहीं है। ऐसे में ऑनलाइन कोर्स की डिग्रियों में विविधता और पारदर्शिता की कमी होने पर सवाल उठ रहे थे। इसलिए यूजीसी ने इस दिशा में नियमावली तैयार करने का निर्णय लिया है। इस संबंध में बैठकों का दौर चल रहा है। शिक्षाविदों के सुझाव लिए जा रहे हैं। जानकारी के अनुसार ऑनलाइल लर्निंग के नियम डिस्टेंस लर्निंग की तर्ज पर तैयार हो सकते हैं।

‘भारत पढ़े ऑनलाइन’ अभियान
केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने ई-लर्निंग को गंभीरता से लागू करने का निर्णय लिया है। इसी के तहत यूजीसी ने ‘भारत पढ़े ऑनलाइन’ अभियान लांच किया है। इसके तहत विद्यार्थियों और शिक्षकों के बीच ई-लर्निंग के जरिए लिंक स्थापित की जा रही है, ताकि विद्यार्थियों का शैक्षणिक नुकसान न हो। यूजीसी ने पहले ही शिक्षा संस्थानों के लिए ऑनलाइन पाठ्यक्रम उपलब्ध कराया है। इसे वाट्सएप, फेसबुक और ट्विटर जैसे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म की मदद से उसे विद्यार्थियों तक पहुंचाने के निर्देश हैं। यूजीसी ने नागपुर विद्यापीठ समेत देश भर के शिक्षा संस्थानों को पत्र लिख कर इसे लागू करने के निर्देश दिए थे, जिसके बाद नागपुर विवि ने भी अपने पोर्टल पर वीडियो लेक्चर और ई-कंटेट उपलब्ध कराया है। नागपुर विवि के करीब 40 पोस्ट ग्रेजुएट विभागों, तीन संचालित कॉलेजों और 400 से अधिक संलग्नित कॉलेजों में 3 लाख से अधिक विद्यार्थियों के लिए यह कंटेंट उपलब्ध है।

कमेंट करें
b1iC7