दैनिक भास्कर हिंदी: मुसीबत वाली बाढ़: ग्वालियर-इंदौर इंटरसिटी एक्सप्रेस पाड़रखेड़ा रेलवे स्टेशन पर फंसी, 400 यात्री सवार, दोनों तरफ के ट्रैक पानी में डूबे

August 3rd, 2021

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। ग्वालियर-इंदौर के बीच चलने वाली ग्वालियर-इंदौर इंटरसिटी एक्सप्रेस सोमवार रात साढ़े नौ बजे से शिवपुरी के पास पाड़रखेड़ा रेलवे स्टेशन पर खड़ी हुई है। दरअसल, चार दिन से लगातार हो रही जोरदार बारिश की वजह से इंदौर की ओर जाने वाले ट्रैक पूरी तरह पानी से डूब चुके हैं। ट्रैक के दोनों तरफ पहाड़ों से झरने बह रहे हैं। ट्रैक की जगह सिर्फ नदी नजर आ रही है। 

अब तक मिली जानकारी के मुताबिक ट्रेन में 400 से ज्यादा यात्री सवार है। ट्रेन के डिब्बों में लाइट नहीं है जिससे यात्री दहशत में हैं। उन्हें खाना-पानी उपलब्ध कराया जा रहा है। रेलवे की अधिकारिक वेबसाइट IRCTC पर इस ट्रेन का कैंसिल दिखाया जा रहा है। रेलवे एवं प्रशासनिक स्तर पर कोशिश की जा रही है कि रेल में सवार यात्रियों को वापस ग्वालियर ले जाया जाए और वहां से उन्हें बसे के मध्यम से उनके गंतव्य स्थान पर भेजा जाए। लेकिन, परेशानी यहां भी खत्म नहीं होती है। ग्वालियर से शिवपुरी के बीच मोहना पर पार्वती नदी के रपटे के ऊपर पानी बहने से यात्री सड़क मार्ग से भी ग्वालियर नहीं लौट पा रहे हैं। सुबह ही यहां फंसी एक बस को जिला प्रशासन और पुलिस ने बाहर निकलवाया है।

बाढ़ की स्थिति पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने कहा
चंबल संभाग में आई बाढ़ को लेकर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि एयरफोर्स के हेलीकॉप्टर भी खराब मौसम के कारण रेस्क्यू ऑपरेशन नहीं चला पा रहे हैं। हमने आर्मी के 4 कॉलम मांगे हैं। हम लोगों ने अब तक 1200 लोगों को बचाया है। हमारे 2 मंत्री शिवपुरी में ही हैं। वे कंट्रोल रूम बनाकर वहां से देखरेख कर रहे हैं। शिवपुरी और शेओपुर में 2 दिन में लगभग 800 मिलीमीटर बारिश दर्ज़ की गई जिसके कारण बाढ़ की स्थिति बन गई। हमने 5 हेलीकॉप्टर बुलवाए हैं लेकिन खराब मौसम के कारण बचाव कार्य बाधित रहा। अब तक SDRF और NDRF की टीमों ने 1600 लोगों को बचाया है। मैंने प्रधानमंत्री से चर्चा की और स्थिति से अवगत कराया। उन्होंने बहुत संवेदनशीलता के साथ कहा है कि चिंता न करें, भारत सरकार हर संभव मदद करेगी। मैंने उनसे आर्मी के बारे में भी बात की। केवल NDRF और SDRF से काम नहीं चल रहा है। कई ज़िलों में भारी बारिश हुई है। शिवपुरी भारी बारिश का केंद्र बना हुआ है। लगभग 1100 गांव प्रभावित हैं, 200 गांव ज्यादा प्रभावित हैं और 22 गांव घिरे हुए हैं। कल हमने एयरफोर्स के हेलीकॉप्टर बुला लिए थे। वे लगातार लोगों को बचाने का प्रयास कर रहे हैं। 

खबरें और भी हैं...