दैनिक भास्कर हिंदी: महंगाई की मार , छ: माह में डेढ़ गुना बढ़ गया घर का खर्च

November 24th, 2020

डिजिटल डेस्क, नागपुर। सोशल मीडिया और नुक्कड़ पर लगे ठेलों पर आप राष्ट्रीय-अंतरराष्ट्रीय मुद्दे पर बहस करने में मशगूल हो गए और महंगाई ने गुपचुप आपके बटुए पर वार कर दिया है। हाल ही में पेट्रोल-डीजल से लेकर रेल किराए तक में बढ़ोतरी होने पर जब हमने आपको प्रभावित करने वाली वस्तुओं के दामों की तुलना की तो चौकाने वाली सच्चाई सामने आई। बाजार के आंकड़े कह रहे हैं कि पिछले छह माह में आपके घर का बजट डेढ़ गुना तक बढ़ गया है। इसमें फोन रिचार्ज से लेकर आलू, प्याज तक शामिल है। महंगाई बढ़ने का कारण विशेषज्ञ अंतरराष्ट्रीय बाजार में हो रही उठापटक से लेकर स्थानीय स्तर तक के बता रहे हैं। राज्य सरकार ने बिजली बिल में भी राहत नहीं दी है। बढ़े हुए बिजली बिल से शहर के लोग काफी परेशान हैं। सब्जियों को लेकर थोड़ी राहत भरी खबर आ रही है। सब्जियों में भी आलू और प्याज के दाम आसमान छू रहे हैं। डराने वाली बात यह है कि यदि वैश्विक और राष्ट्रीय स्तर पर सुधार के कदम नहीं उठाए गए, तो महंगाई की मार और करारी हो सकती है।

सब कुछ हुआ महंगा
बीते 6 माह में पर खर्च डेढ़ गुना हो गया है। रोजाना 100 रुपए की सब्जी से काम चल जाता था, अब 150 की लगती है। करीब 2500 का राशन लगता था, अब 4 हजार का लाते हैं। एलपीजी के दामों, बच्चो की पढ़ाई, कॉपी-किताब सब महंगा हो गया है। दवाएं भी अब महंगी खरीदनी पड़ रही है।  - राजेश चोपड़े, नौकरीपेशा

तेल का पड़ा असर 
अंतरराष्ट्रीय बाजार में गिरावट आने के कारण घरेलू खर्चों में भी बढ़ोतरी होती है। वर्तमान में क्रूड ऑयल के महंगे होने के कारण पेट्रोल-डीजल के दामों में इजाफा हो रहा है। ट्रासपोर्टेशन महंगा होने के कारण किराना, सब्जियां व तमाम उत्पाद महंगे हो रहे हैं। निवेश बढ़ने के कारण सोना-चांदी महंगा हो रहा है।  नीलेश न्यायखोर, एजेंट