comScore

थर्ड जेंडर की पहल : जिन घरों से ली थी बधाई, उन्हीं की मदद को पहुंचे

थर्ड जेंडर की पहल : जिन घरों से ली थी बधाई, उन्हीं की मदद को पहुंचे

डिजिटल डेस्क,नागपुर। बधाई के नाम पर घर-घर से मोटी रकम वसूलने के लिए बदनाम तृतीय पंथियों (थर्ड जेंडर) ने सराहनीय पहल की है। लॉकडाउन के दौरान इन लोगों ने दिल खोलकर मदद की है। जिन घरों से बधाई ली थी, उन्हीं घरों को जरूरत पड़ने पर सहायता पहुंचाई। खाना, राशन से लेकर अन्य जरूरत के सामान उपलब्ध कराए। ज्योति नगर खदान किन्नर समाज की ओर से जरूरतमंदों को
राशन किट का वितरण किया गया।

तृतीय पंथी विद्या कांबले ने बताया कि हमारे परिवार का सदस्य कोई हमारे साथ नहीं है। समाज के लोग ही हमारा परिवार हैं। हमारे पास कोई काम नहीं है। हम शुभकार्य होने पर बधाई मांगने जाते हैं। हमारी जीविका का यही साधन है। ऐसे में शहर के बहुत सारे घरों से हमें बधाई मिली है। लॉकडाउन हुआ तो तमाम परिवारों के आगे रोजी-रोटी का संकट छा गया। हमलोगों ने  शहर के कुछ स्लम एरिया में जाकर राशन किट और अनाज का वितरण किया। इनमें ऐसे घर भी शामिल थे, जिन घरों से हमने बधाई ली थी। 

बस्तियों के हालात से हम वाकिफ थे
विद्या ने बताया कि हम शहर के हर इलाके में घूमते हैं। हर जगह की स्थिति से हम वाकिफ हैं। लॉकडाउन में जब काम-धंधा ठप हुआ तो मदद की तैयारी की। हमने लगभग 600 किलो की राशन किट तैयार की। इसमें दाल, चावल, तेल, गेहूं, शक्कर, चायपत्ती के साथ अन्य सामग्री थी। इस कार्य  में सारथी ट्रस्ट के आंनद चंद्रानी, मोहिनी नायकजी, कल्याणी गुरुजी, कामिनी बाई, शबाना गुरुजी आदि का सहयोग रहा।

आश्चर्य से देख रहे थे लोग
विद्या कांबले की मानें तो हमलोगों ने जब राशन किट वितरण का काम शुरू किया तो लोग आश्चर्य से देख रहे थे। खासतौर से वह लोग, जिन घरों से हमलोगों ने बधाई ली थी। समय ऐसा था कि उनकी जरूरत पड़ी तो हमलोग मदद को आगे आए। सभी ने हमलोगों को दुआएं दीं। राजनगर बस्ती के 50 से अधिक परिवारों में राशन किट का वितरण किया। बस्ती में पहुंचकर लोगों को कोरोना से बचने के लिए सोशल डिस्टेंसिंग के बारे में भी बताया। बस्ती के लोगों में मास्क का भी वितरण किया।

कमेंट करें
BMorb