comScore

घायल तेंदुए की मौत, बाघिन की हालत नाजुक

घायल तेंदुए की मौत, बाघिन की हालत नाजुक

डिजिटल डेस्क, नागपुर। कुछ ही दिन पहले गोंदिया जिले से  जख्मी हालत में एक तेंदुए को गोरेवाड़ा रेस्क्यू सेंटर लाया गया था, जिसकी मौत हो गई। दूसरी तरफ नागभीड़ से लाई गई  बाघिन की हालत चिंताजनक बनी हुई है।

जख्मी हालत में लाया गया था
गोंदिया जिला अंतर्गत अर्जुनी मोरगांव नगर से करीब 5 किमी दूर स्थित सोनेगांव जंगल से कुछ दिन पहले एक मादा तेंदुए को जख्मी हालत में नागपुर के गोरेवाड़ा स्थित उपचार केंद्र में लाया गया था। उसकी पीछे के दोनों पैरों की हड्डियां टूटी हुई थीं। 23 जून से उसका इलाज चल रहा था, लेकिन  उसकी हालत लगातार बिगड़ती जा रही थी। आखिरकार उसकी मौत हो गई। इसके अलावा 23 जून को कुएं में गिरने से घायल हुए एक चीतल ने भी इलाज के दौरान सेंटर में दम तोड़ दिया। 

शिकार नहीं कर पा रही थी बाघिन
अधिकारियों के अनुसार नागभीड़ वन परिक्षेत्र से लाई गई बाघिन की उम्र 12 वर्ष से अधिक होने से उसके नुकीले दांत टूट गए थे। वह शिकार नहीं कर पा रही थी। ऐसे में उसे गोरेवाड़ा लाया गया था। डॉक्टर बाघिन पर नजर रखे हुए हैं। उसकी हालत नाजुक बताई गई है।
 

कमेंट करें
MDwRh