comScore

गांजा तस्करी का अंतरराष्ट्रीय गिरोह पकड़ाया, 3.50 करोड़ का माल बरामद

गांजा तस्करी का अंतरराष्ट्रीय गिरोह पकड़ाया, 3.50 करोड़ का माल बरामद

डिजिटल डेस्क, मुंबई। एंटी नारकोटिक्स सेल (एनसी) ने मादक पदार्थों की तस्करी से जुड़े एक अंतर्राज्यीय बड़े गिरोह का पर्दाफाश करते हुए 1800 किलो ग्राम गांजा बरामद किया है। जिसकी कीमत साढ़े तीन करोड़ रुपए बताई जा रही है। एनसी ने इस मामले में दो लोगों को गिरफ्तार किया है। जबकि गिरोह का सूत्रधार अभी भी पहुंच से दूर है। जिन आरोपियों को इस मामले में पकड़ा गया है उनके नाम आकाश यादव व दिनेश कुमार बताया गए हैं।  घाटकोपर की एएनसी यूनिट को इस बारे में गुप्त सूचना मिली थी। इसके बाद एएनसी की इंस्पेक्टर लता सुतार की टीम ने कार्रवाई करते हुए विक्रोली के पास एक ट्रक पकड़ा। जिसमें 1800 किलो गाजा मिला है। शुरुआती जांच में पता चला है कि ट्रक भिवंडी जा रहा था।

इस बारे में संयुक्त पुलिस आयुक्त (अपराध)   मिलिंद भारंभे ने कहा कि इस मामले में से जुड़ा गिरोह काफी संगठित दिख रहा है। गिरोह ने तस्करी के लिए अनोखा तरीका अपनाया था । जिसके तहत मादक पदार्थ नारियल के बोरियों के बीच में छुपाया गया था। गिरोह के लोग हर माह 4000 किलो ग्राम गाजा मुंबई ल रहे थे। यह गाजा उड़ीसा से लाया गया था। कार्रवाई के दौरान जो गाजा पकड़ा गया है उसे हैदराबाद, सोलापुर व पुणे के रास्ते से मुंबई लाया गया है। अभी तक इस बात की पुष्टि नहीं हुई है कि गिरोह से जुड़े लोगों का संबंध नक्सलियों से है या नहीं। गाजे की खेप मुंबई के अलावा सोलापुर व पुणे में भी पहुचाई जाती थी। उड़ीसा के लक्ष्मी प्रधान नाम के शख़्स को इस गिरोह का मास्टर माइंड माना जा रहा है। पुलिस  फिलहाल इस गिरोह के मास्टरमाइंड व मादक पदार्थ के वितरण के नेटवर्क का पता लगाने में जुटी है। 

कमेंट करें
JSI8u